सपा के गढ़ में गरजे योगी

मैनपुरी। जिले में एक सभा सम्भोधित करने आये योगी आदित्यनाथ के निशाने पर मुख्यतः सपा और बसपा ही रहीं। उन्होंने कहा कि अपराधियों को संरक्षण देने वाली इन सरकारों को गद्दी नहीं देनी है। कांग्रेस की बर्बादी की कहानी हर जुबान पर है। ढाई साल की भाजपा की केंद्र सरकार में विरोधी भी नहीं बोल सकते कि भ्रष्टाचार हुआ।

उन्होंने कहा कि 14 साल से सपा और बसपा प्रदेश को लूट रहे हैं। अपराधियों को संरक्षण दिया जा रहा है। शिक्षा का बुरा हाल है। कानून व्यवस्था पूरी तरह से चौपट है। विकास के नाम पर लोगों को धोखा दिया जा रहा है। अपराधियों का राजनीतिकरण और अपराधों का व्यवसायीकरण किया गया। इस बार निर्णायक लड़ाई की तैयारी करे जनता। उन्होंने कहा कि आतंकवादी छूटेंगे तो क्या होगा। बम विस्फोट किसी को देखकर नहीं होता, लेकिन यूपी सरकार का पहला फैसला था कि घोषित आतंकियों पर दायर मुकदमे वापस लेना। जिन्होंने मंदिरों पर विस्फोट और सीआरपीएफ कैंप पर हमला किया था उनके लिए अखिलेश ने मुकदमे वापस लेने का पहला निर्णय लिया।

सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि में दिल्ली से आ रहा था मेरे साथ मुलायम सिंह यादव या रहे हे थे बोहोत परेसान थे मुझसे कहने लगे की में दुखी इस बात से हु की मेने पार्टी कैसे कैसे बनाई है भले ही राम भक्तो पर गोली चलानी पड़ी हो मेने ये पाप भी किया लेकिन आज मुझे अफसोश होता है कि जो मेने कांग्रेस का वोट बैंक झटका था अब एक झटके में अखिलेश यादव उसको भी ले डूबेंगे। मायावती पर निशाना साधते हुए कहा कि मुख्यतार अंसारी जैसे अपराधियो को प्रत्यासी बनाया हे और राहुल ग़ांधी को कांग्रेस पार्टी के लिया बताया अप्सगुन वही अखिलेश यादव की कंस और औरंगजेब से की तुलना कहा कि जैसे कंस और औरंगजेब ने अपने पिता को बंधी बना कर खुद राजा बन गए थे ऐसा ही किया अखिलेश यादव ने। वही राम मंदिर पर कहा कि राम मंदिर भी जरूर बनेगा।

साकिब अनवर, संवाददाता