करोड़ों के गबन में जुटे योगी के नुमाइंदे

मुजफ्फरनगर। सूबे में योगी सरकार जहां भ्रष्टाचार खत्म करने का प्रयास कर रही है लेकिन भ्रष्टाचार खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है। मामला मुजफ्फरनगर का है जहां भाजपा से जुड़े बुढाना नगर पंचायत में फिर बड़ा घोटाला सामने आया है। यहां सड़के सिर्फ कागजों में बनाने की तैयारी की जा रही है। जो सड़क 6 माहीने पहले बनी थी वो अब फिर बनने जा रही है। इससे साफ है कि सत्ता के रौब में बड़ा घोटाला किये जाने की रूपरेखा बन चुकी है।

मुज़फ्फरनगर निकाय चुनाव नजदीक होने से नगर पंचायत बुढ़ाना में बड़ा घोटाला करने के लिए लगभग ढाई करोड़ के टैंडर ऐसी सड़कों के निकाले गए हैं जो पिछ्ले लगभग दो वर्ष पहले ही बनाई गई हैं। यह टैंडर जनपद की एनआईसी वेबसाइट पर भी अपलोड नहीं किये गए हैं। बता दें कि नगर पंचायत अध्यक्ष जितेंन्द्र त्यागी बीजेपी से जुड़े हैं जिनके द्वारा चुनाव में लाभ लेने के लिए 17 मई 2017 को इंटरलॉक टाइल्स लगाने के लिए निकाले गए हैं।

पिछले 3 सालों में अच्छी सीसी सड़कों को जेसीबी आदि से उखाड़ कर इंटरलॉकिंग टाइल्स लगाई गई है। जिससे करोड़ो रूपये की हानि है। अब एक बार फिर से नगर पंचायत द्वारा ऐसे टैंडर निकाले गए है जो कार्य पहले ही कराए जा चुके हैं। वही कस्बे के लोगो ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ ही नगर विकास मंत्री को टैंडर में निकाली गई सभी सही सड़को की वीडियो ग्राफी करके व पूर्व में कराए गए कार्यों की लिखित शिकायत भेजकर सभी सड़को का भौतिक सत्यापन कराने के साथ दोषियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की गई है। शिकायतकर्ताओं ने नगर पंचायत जेई और पंचायत चेयरमेन पर आरोप लगाते हुए केवल कागजों में ही कार्य कराकर भुगतान लिए जाने के गंभीर आरोप लगाए हैं।