अखिलेश सरकार में हुए पुलिस सुरक्षा में गैंगरेप की होगी जांच

लखनऊ। सूबे में योगी सरकार के दो महीने लगभग पूरे होने वाले हैं। ऐसे में लगातार पूर्ववर्ती सरकार के एक के बाद एक कारनामे सामने आने लगे हैं। आज पार्टी कार्यालय पर जन समस्याओं के निस्तारण के लिए दुग्ध विकास और अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री चौधरी लक्ष्मी नारायण पहुंचे। इस दौरान बड़ी संख्या में फरियादी अपनी फरियाद लेकर मंत्री जी के सामने आ रहे थे। लेकिन एक ऐसा मामला सामने आया कि सबके रोंगटे खड़े हो गये।

फरियादी करने आई एक महिला ने जब मंत्री जी के सामने अपनी आप-बीती बंया की तो उसकी दांस्ता सुन मंत्री की के कंठ अवरूद्ध हो गये। फिरोजाबाद की इस महिला ने बताया कि सत्ता के मद में चूर पूर्ववर्ती सरकार में दबंगों ने पहले तो उसके साथ गैंगरेप किया । जब इस मामले की शिकायत की तो उसे पुलिस की अभिरक्षा में भेजकर मामले की जांच के आदेश हुए । लेकिन दबंगों की प्रशासनिक पहुंच और सत्ता के गलियारों में धमक के चलते पुलिस की कार्रवाई आगे बढ़ ना सकी और दुबारा उन दबंगों ने उसके साथ फिर वही घिनौना खेल खेल दिया । लेकिन इस बार ये खेल दबंगों ने पुलिस की मदद से खेला । दबंगों ने पुलिस अभिरक्षा से उसे उठाकर ले गये और दुबारा उसके साथ गैंगरेप किया।

महिला सुरक्षा के दावे करने वाली अखिलेश सरकार के दौरान पुलिस अभिरक्षा से ले जाकर गैंगरेप करने वालों पर पुलिसिया कार्रवाई का कोई डंडा आज तक नहीं चला । बल्कि मुस्तैद पुलिस ने एक तो मामले में फाइनल रिपोर्ट लगा दी । दूसरा दबंगों की सत्ता में हनक के चलते उसके पिता और चाचा पर फर्जी मामला दर्ज कराकर हवालात के अंदर पहुंचा दिया।

हांलाकि अब इस मामले में मंत्री जी फरियादी को आश्वासन देते हुए मामले की जांच के लिए प्रदेश के अपर पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था को कार्रवाई करने का आदेश दिया है। जिससे पीड़िता को न्याय और दोषियों को सजा मिल सके।