योग ने भारत-अमेरिका के बीच गहरे संबंधों को दर्शाया: जोश अर्नेस्ट

वॉशिंगटन। दूसरे अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर अमेरिका ने कहा है कि हर दिन लाखों अमेरिकी नागरिक योगाभ्यास करते हैं और योग ने भारत तथा अमेरिका के बीच गहरे संबंधों को रेखांकित किया है। व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जोश अर्नेस्ट ने संवाददाताओं को बताया कि ऐसे लाखों अमेरिकी नागरिक हैं, जो अपने जीवन में योगाभ्यास का लाभ उठा रहे हैं और जो भी इस अभ्यास को नियमित तौर पर करते हैं उन्हें इससे मानसिक एवं शारीरिक स्वास्थ्य लाभ मिल रहा है।

Yoga

अर्नेस्ट ने कहा कि योग ने दोनों देशों (भारत एवं अमेरिका) के बीच गहरे सांस्कृतिक संबंधों को भी रेखांकित किया है। निश्चित रूप से यही वह तरीका है जिसने अमेरिकी लोगों तक भारत की समृद्ध एवं प्राचीन संस्कृति का लाभ पहुंचाया है। दिसंबर 2014 में संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के तौर पर मनाए जाने के एक प्रस्ताव को मंजूरी दी थी। इस प्रस्ताव को 177 सदस्य देशों का समर्थन मिला था, जो एक रिकॉर्ड है। मंगलवार को दूसरे अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर दुनिया के अन्य देशों के साथ-साथ अमेरिका में भी कई कार्यक्रम आयोजित किए गए थे।