योग दिवस पर दुष्कर्म करने का प्रयास : हरदोई

हरदोई। पीएम नरेंद्र मोदी अंतराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर भारी बारिश के बीच लखनऊ के रमाबाई मैदान से जिस वख्त योगा कर देश को निरोग रहने का संदेश दे रहे थे ठीक उसी समय हरदोई के एक डिग्री कालेज में योगा से छात्रा को उठाकर दुष्कर्म करने का प्रयास हो रहा था। यह घिनौना काम कोई और नहीं बल्कि डिग्री कालेज का प्रबंधक अंजाम देने की कोशिश कर रहा था। छात्रा के रोने की आवाज सुनकर किसी तरह साथी छात्र छात्राओं से उसकी असमत लूटने से बचाई।


पूरा मामला हरदोई जिले के संडीला कोतवाली इलाके के दिव्यानन्द पीजी कालेज का है। जहा प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर बीटीसी के छात्र छात्राओं को योगा कराया जा रहा था। छात्रा का आरोप है की प्रिंसिपल अनुराधा मिश्रा ने उसको पीछे से उठाकर जबरदस्ती प्रबन्धक आशीष मिश्रा के सामने आगे बिठाया और उससे गलत तरीके से ऊपर हाथ उठाकर योग करने का दबाव बनाया। उसके बाद प्रबन्धक जबरदस्ती उसे बुलाकर प्रिंसिपल के कमरे में ले गए और सोफे पर बैठकर उसके साथ अश्लील हरकत करते हुए दुष्कर्म का प्रयास करने लगे। उसके शोर और रोने की आवाज सुनकर किसी तरह अन्य छात्रा छात्राओं ने मौके पर जाकर प्रबंधक के चंगुल से छात्रा को छुड़ाया। छात्रा का आरोप है की स्कूल प्रिंसिपल और अनुराधा मिश्रा प्रबन्धक की पत्नी है जिस कारण वह छात्राओं पर समझौता करने का दबाव बना रही हैं। समझौता न करने पर कैरियर खराब करने की धमकी भी दी जा रही है।

प्रिंसपल अनुराधा मिश्रा का कहना है की समझौते के लिए दबाव बनाने का आरोप गलत हैं बल्कि उन्होंने छात्रों से कहा था अगर ऐसा कुछ हुआ है तो वोह छात्राओं के साथ हैं,आक्रोशित छात्र छात्राएं कालेज में हंगामा करने के बाद कोतवाली जा धमके और संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज कर प्रबंधक को जेल भेजने और कालेज बाहर करने की मांग करने लगे। काफी देर चले हंगामे के बाद पुलिस ने छात्राओं की तहरीर पर प्रबंधक के विरुद्ध मामला दर्ज कर आक्रोशित छात्र छात्राओं को शांत कराया।छात्र छात्राओं ने किसी तरह हिम्मत दिखाकर मामला दर्ज कराया लेकिन प्रबंधक को बचाने में जुटी पुलिस इस गम्भीर मामले पर कैमरे के सामने कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हुई।