33वीं इंदिरा मैराथन में रशपाल एवं ज्योति गवते ने मारी बाजी

इलाहाबाद। 33वीं अखिल भारतीय इंदिरा मैराथन में पुरूष वर्ग में पूर्णे आर्मी के पंजाब निवासी रशपाल सिंह बाजी मारी जबकि महिला वर्ग में महाराष्ट्र की ज्योति शंकर गवते ने पांचवी बार प्रथम स्थान प्राप्त किया। पुरूष वर्ग में दूसरे स्थान पर इलाहाबाद के अनिल सिंह पटेल रहे । वह इलाहाबाद में ही आर्मी की 138 टीए बटालियन में तैनात हैं। महिला वर्ग में दूसरे स्थान पर हाथरस भुरसान की अनीता चैधरी रहीं और तृतीय स्थान पर पुरूष वर्ग के आनन्द सिंह रावत आर्मी रानीखेत और महिला वर्ग में जौनपुर की रानी यादव ने 42 किलोमीटर की दौड़ पूरी करते हुए अपने लक्ष्य को प्राप्त किया।

merethan
merethan

पुरूष वर्ग में प्रथम स्थान पर रहे धावक रशपाल सिंह 31वर्ष पुत्र प्रभूदयाल सिंह पूर्णेे आर्मी इन्सटीट्यूट 6 रेजीमेन्ट के है। वह मूलरूप से पंजाब अमृतसर के निवासी है। इससे पूर्व वह वर्ष 2013 में प्रथम स्थान पर रहे है। 2015 में बंगलौर में प्रथम, वसई मुम्बई 2016 में प्रथम, 2017 नेशनल मैराथन दिल्ली में प्रथम रहें है। वह विवाहित है और एक बेटी है।

द्वितीय स्थान पर रहे अनिल सिंह पटेल पुत्र स्वर्गीय राधेश्याम निवासी सुदनीपुर कला हनुमानगंज के है। डेढ़ वर्ष पूर्व ही खेल कोटे से 138 टीए वटालियन न्यूकैन्ट आर्मी इलाहाबाद में बतौर सिपाही के पद पर उनकी नियुक्ति हुई है। अनिल दो भाई और एक बहन में सबसे छोटे हैं। इससे पूर्व वह दिल्ली, केरल, बन्द्रा, हाफ मैराथन में प्रथम रहें है। उनके कोच राजकपूर हवलदार हंै, जिनका जुड़ाव मदन मोहन मालवीय स्टेडियम इलाहाबाद से रहा है। तृतीय स्थान पाने वाले धावक आनन्द सिंह रावत 26 वर्ष के हैं। वह उत्तराखण्ड के गढ़कोट सराय खेत जिला अलमोड़ा के निवासी हैं। वर्तमान में वह आर्मी के कुमायंू रेजीमेन्ट रानीखेेत में कार्यरत हैं।

महिला वर्ग में लगातार पांचवी बार प्रथम स्थान पर रही धाविका ज्योति शंकर गवते महाराष्ट के परवनी निवासी शंकर राव किसन राव गवते की बेटी हैं। वह दो भाई और एक बहन हंै। इससे पूर्व बैंगलूर मैराथन में पिछले 19 अक्टूबर को तृतीय स्थान प्राप्त किया था। उनका कहना है कि इस प्रतियोगिता के लिए उनके कोच रविराज कटला ने उन्हें कठिन परिश्रम कराया, जिससे पांचवी बार इंदिरा मैराथन में उन्हें सफलता मिली।

इसी तरह महिला वर्ग में द्वितीय स्थान पर रही अनीता चैधरी पुत्री विशम्भर निवासी गुरजान हाथरस की है। वह हरिद्वार में हाफ मैराथन में 2015 में द्वितीय स्थान पर रहीं। दिल्ली मैराथन में भी दौड़ी थी। उनके कोच विजय सिंह हैं। अनीता का अगला लक्ष्य मुम्बई टाटा मैराथन में प्रथम स्थान लाना है। तीसरे नम्बर पर रही धाविका रानी यादव जौनपुर की रहने वाली है।