अलीबाबा संस्थापक जैक मा बने एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति

नई दिल्ली। चीन की अर्थव्यवस्था में गिरावट लगातार होते ही जा रहे हैं। अक्सर देखा जाता हैं कि अर्थवियवस्था की स्थिति अच्छी नहीं होती हैं तब निवेशक खतरा मोल लेने की बजाय पैसा सुरक्षित जगह पर लगाना सही होता हैं। ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा के संस्थापक जैक मा एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति हो गए हैं।

जैक मा की कुल संपत्ति रातोरात 2.8 बिलियन डॉलर याने करीब 17.9 हजार करोड़ रुपये बढ़ गई है। इस तरह जैक मा की संपत्ति बढ़कर 2 लाख 60 हजार करोड़ रुपये हो गई है। ब्लूमबर्ग के अरबपतियों की सूची में जैक मा एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति हैं, वहीं पूरी दुनिया के अरबपतियों में जैक मा 14वें नंबर पर हैं। जैक मा की अलीबाबा में 13 फीसदी हिस्सेदारी है। अलीबाबा समूह अब डिजिटल प्लेटफॉर्म में कुछ और नए प्रयोग करने जा रहा है।

अलीबाबा क्या हैं

अलीबाबा चीन की ई-कॅामर्स कंपनी हैं। जिनके मालिक हैं जैक मा। अपनी शिक्षक की नौकरी को छोड़ अलीबाबा इस व्यवसाय में आए थे। जैक मा को पता था कि चीन में उपभोक्ता और उत्पादक एक दूसरे पर भरोसा नही करते उन्होंने दोनो को सुरक्षा दी पेमेंट सिस्टम में।

इसके बाद कंपनी ने अपने फायदे के लिए चीन की इंटरनेट राजनीति का भरपूर इस्तेमाल किया उन्होंने कम्युनिस्ट पार्टी के नेताओं को यकीन दिलाया कि कंपनी किसी भी तरह से पार्टी के खिलाफ नहीं हैं।

रातों रात कैसे बने अमीर

चीन की ई-कामर्स कंपनी अलीबाबा के मालिक जैक मा की कुल संपति एक अनुमान के आधार पर रातोंरात 2.8 बिलियन डॅालर बढ गई। ब्लूमबर्ग की अरबपतियों के लिस्ट के मुताबिक जैक मा एशिया के सबसे अमीर और दुनिया के 14वें सबसे अमीर आदमी बन गए हैं।

जैक मा की संपति इस साल 54.4 हजार करोड़ से बढ़कर 41.8 बिलियन डॅालर पहुंच गई हैं। रातोंरात इतनी लम्बी छंलाग का कारम अलीबाबा की कंपनी के रेवेन्यू ग्रोथ का अनिमानों से कई अधिक रहना हैं।