शनिवार से दिल्ली में शुरू होगा विश्व प्रसिद्ध पुस्तकों का मेला

नई दिल्ली। विश्व प्रसिद्ध पुस्तक मेला 7 जनवरी से दिल्ली के प्रगति मैदान में शुरू होने जा रहा है जिसमें दुनिया भर के लेखकों की किताबों का संग्रह होगा। 15 जनवरी तक चलने वाले इस पुस्तक मेले के 44वें संस्करण का उद्घाटन मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री (उच्च शिक्षा) महेंद्र नाथ पांडेय करेंगे। आयोजकों के अनुसार, इस नौ दिन चलने वाले मेले में भारत की संपन्न विरासत को संगीत और नृत्य प्रदर्शन के जरिए बढ़ावा दिया जाएगा। इस पुस्तक महाकुंभ में पूरे भारत से 1500 लोग भाग लेने वाले हैं जिसमें 50 से ज्यादा विदेशी प्रदर्शक होंगे।

 

मेले में किताबों की दुनिया से जुड़ी हस्तियां जैसे आशा पारिख, शत्रुघ्न सिन्हा की मेले में सैर पर पहुंचने की उम्मीद है। लेखकों के साथ कई सेशन भी पब्लिक के लिए रखे जाएंगे। डांस, म्यूजिक, थिएटर, पोएट्री, रीडिंग सेशन के साथ कई कल्चरल इवेंट का मजा भी यहां रोजाना लिया जा सकता है। मेले के मुख्य आकर्षण में से एक 10 जनवरी को भारत, जर्मनी और फ्रांस के प्रकाशकों के एक सत्र में बाजार, रुझान और सहयोग पर चर्चा रहेगी और वे अपने पुस्तक बाजार के परिदृश्य को सत्र में रखेंगे। किताबों के महाकुंभ में दर्शकों की सहूलियत का ध्यान रखा गया है। इसके लिए दिल्ली मेट्रो के 50 स्टेशनों के साथ प्रगति मैदान के काउंटर पर टिकट मिलेगा।