सत्ता पर काबिज होने के एक महीने के अंदर ही अपने वादे से मुकर गई सरकार

चंडीगढ़। अक्सर सरकार सत्ता पर काबिज हो जाने के बाद अपने वादों को भूल जाती है। इस वक्त पंजाब में भी कुछ ऐसा ही हो रहा है। चुनाव से पहले प्रचारे के समय कांग्रेस ने सत्ता में आने पर गरीबों को 5 रुपए में खाना देने का वादा किया था, लेकिन सत्ता में आने के एक महीने के अंदर ही सरकार अपने इस वादे से मुकर गई।

अब कांग्रेस के नेताओं का कहना है की 5 रुपए में गरीबो को खाना देना वय्वहारिक नहीं है। नेताओं का कहना है की सरकार सस्ता खाना देने का अपना वादा पूरा जरुर करेगी लेकिन थाली 5 रुपए की जगह 13 रुपए में दी जाएगी। इस थाली को 13 रुपए में देने का आधार नो प्रॉफिट नो लॉस का रखा गया है।

सरकार का दावा है की वो अपने वादे को जरुर पूरा करेगी और गरीबो को सस्ता और अच्छा खाना भी उपलब्ध कराएगी। इसी कारण थाली का मूल्य 13 रुपए तय किया गया है।

हालांकि, अभी भी पंजाब के गरीबों को बिना सरकार की मदद के सस्ता खाना उपलब्ध कराया जा रहा है। ये काम चंडीगढ़ की अन्नपूर्णा केंटीन कर रही है, जो शहर में ज्यादा मजदूर और गरीब इलाको में काम करने वाले लोगों तक अपनी खास गाड़ी की सहायता से खाना पहुंचाती है। गरीबों को ये खाना 10 रुपए प्रति थाली के हिसाब से दिया जाता है।