राम रहीम का कैसे बना इतना बड़ा साम्राज्य, जानें इस खबर में:-

चंडीगढ़। डेरा सच्चा सौदा के बारे में शायद आपको इस बात की जानकारी नही होगी कि राम रहीम ने आपनी अरबों की संपत्ति कब और कैसे बनाई है। इस बात को सुनकर आप भी यही सोच रहे होंगे की राम रहीम के बारे में अब तक लगभग सारी जानकारियां मिल गई हैं लेकिन अभी तक किसी ने भी ये खुलासा नहीं किया है कि राम रहीम की अरबों की संपत्ति कैसे बनी है, जबकी कहा जाता है कि राम रहीम के डेरे में एक रुपए का चढ़ावा भी नही चढ़ाया जाता था। तो अब हम आपको बताते हैं कि डेरा सच्चा सौदा की अरबों की प्रॉपर्टी के बारे में सारी सच्चाई क्या है। जीहां राम रहीम के डेरे में एक रुपए का भी चढ़ावा चढ़ाने के लिए सख्त पाबंदी लगा हुई थी। लेकिन राम रहीम ने अपने भक्तों से पैसा एंठने का दूसरा जरिया बना रखा था। बलात्कारी बाबा ने 2 खाते खोल रखे थे, जिनके नाम पर राम रहीम लोगों से पैसा एंठता था।

How,make, Ram Rahim, such, a big, empire, know,this news,
such a big empire

डेरा सच्चा सौदा का प्रमुख व बलात्कारी बाबा राम रहीम ने शाह सतनाम जी ग्रीन एंड वेलफेयर फंड तथा परमार्थ के नाम से 2 खाते खोल रखे थे। यह वो ऐकाउंट हैं जिन में लोग डेरे के लिए काफी तादाद में धन राशी जमा किया करते थे। लेकिन फिर भी राम रहीम अपने भक्तों को यही कहता रहता था, कि डेरा सच्चा सौदा कभी भी चढ़ावा नही लिया करता है और ना ही कभी तरह का डेरे में कोई दान पात्र रखा जाता है। आपको बताते चलें कि जोभी भक्त डेरे में सेवा करते-करते मर जाता था, तो राम रहीम उसको शहीद का दर्जा दे दिया करता था, साथ ही साथ मृत के परीवार को डेरे की तरफ से पैसों की मदद दी जाती थी। किसी भी तरह की मदद में देने के लिए पैसा इन्हीं दोनों ऐकाउंटों में से निकाला जाता था। पहले तो डेरे में जो खेती का पैसा आता था, तो उसी से डेरे का और डेरे में रहने वाले सभी श्रद्धालूओं का पालन पोषण किया जाता था। लेकिन जैसे-जैसे श्रद्धालू बढ़ते गए तो वैसे-वैसे ही राम रहीम की नीयत में भी खोट आता चला गया।

शिक्षण संस्थानों में भी धनराशी जमा कराई जाती थी:-

डेरे में जोभी धनराशी जमा होती थी, बाकायदा श्रद्धालूओं को उसकी पक्की रसीद दी जाती थी तथा साथ में भक्तों को बहलाने के लिए प्रसाद भी दिया जाता था। यही नहीं बल्कि शिक्षण संस्थान में भी हर महीने डेरे के नाम पर बच्चों की जेबें काटी जाती थी (यानी बच्चों से भी कुछ ना कुछ धन मांगा जाता था)। राम रहीम ने डेरे के नाम पर व्यवसायिक गतिविधियों के लोगों को डेरे से जोड़ रखा था, तो जब भी कोई व्यवसाई आता था, तो वह भी अच्छी खासी रकम वेलफेयर के ऐकाउंट में जमा कराकर जाता था।

How,make, Ram Rahim, such, a big, empire, know,this news,
ram rahim

उसके बाद राम रहीम ने डेरा में एक नीती और अपनानी शुरु कर दी थी, कि भक्त एक रुपया रोजाना अपने पास जमा करेगा तथा फिर महीने के आखरी दिन डेरे के खाते में जमा कराना अनिवार्य है। राम रहीम दोगली चल भी काफी खेला करता था। डेरे में किसी भी भिखारी को भीख देना सख्त मना था। लेकिन भिर भी भिखारीयों को कपडे या जरूरत का सामान देने के नाम से भी धनराशी ऐंठा करता था। डेरा प्रमुख राम रहीम रंगरलीयां किस्म का भी बाबा था। राम रहीम कभी कबाक रूबारू नाइटस शो (आपने-सामने का शो) भी दिखाया करता था। जिस के नाम पर भी लोगों से काफी पैसा ऐंठलिया करता था।

विदेशों तक थे राम रहीम के संपर्क:-

राम रहीम के संपर्क भारत तक ही सीमित नहीं थे। बल्कि बाबा ने अपने पांव भारत से बाहर भी विदेशों में अमेरिका जैसे कई देशों में भैला रखे थे। डेरा सच्चा सौदा के दुनिया भर में 250 से भी ज्यादा शाखाऐं हैं। इन सभी शाखाओं का हेड कुवार्टर हरियाणा में बताया जाता है। डेरा सच्चा सौदा को चलते हुए लगभग 68 साल हो गए है, जिनमें से राम रहीम को मार्किट में आए करीब 25 साल हुए हैं। जिसके बाद राम रहीम के नाम के आगे इंसां लगा दिया गया था। डेरे के करीब 5 करोड़ से भी ज्यादा अनुयायी बताए जाते हैं जिनमें से लगभग 25-26 लाख तो केवल हरियाणा सूबे में ही हैं। इसके अलावा राम रहीम 5 फिल्में भी मार्किट में उता चुका हैं। उन फिल्मों की कमाई लगभग 5 करोड़ से भी ज्यादा बताई जाती है।