जब बॉलीवुड में ‘भगत सिंह’ पर फिल्म बनाने की मची थी होड़

मुंबई। ब्रिटिश राज की सत्ता को चुनौती देते हुए देश के लिए जान कुर्बान करने वाले भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को पूरा देश शहीदी दिवस पर नमन कर रहा है। बॉलीवुड से भी कई सितारों ने इन शहीदों को याद किया है। एक वक्त ऐसा भी था, जब भगत सिंह की शहादत को भुनाने के लिए बॉलीवुड के निर्माताओं में होड़ मच गई थी और एक वक्त पर भगत सिंह को लेकर पांच फिल्में एक साथ बन रही थी।

इनमें से एक फिल्म में अजय देवगन और दूसरी फिल्म में बॉबी देओल भगत सिंह बने थे और ये सभी फिल्में एक ही दिन रिलीज हुई थीं। उस साल अजय और बॉबी की फिल्म को लेकर बड़ा टकराव हुआ था। ये बात सन 2002 की है, जब निर्देशक राजकुमार संतोषी ने टिप्स कंपनी के लिए अजय देवगन को भगत सिंह बनाया, तो मुकाबले में आए सनी देओल ने अपनी कंपनी में अपने छोटे भैया बॉबी को भगत सिंह बना दिया और गुड्डू धनोआ को निर्देशन सौंपा, जो उनके कजिन ब्रदर लगते हैं। खुद सनी ने इस फिल्म में चंद्रशेखर आजाद का रोल किया।

इस टकराव में दोनों ओर से धोखाधड़ी और सबक सिखाने की बातें की गईं। दोनों फिल्में एक साथ रिलीज हुईं, जिनमें राजकुमार संतोषी की फिल्म को बॉक्स ऑफिस पर बेहतर रिस्पांस मिला, जबकि बॉबी देओल वाली फिल्म को दर्शकों ने पसंद नहीं किया। भगत सिंह को लेकर यह दोनों फिल्में बनीं, जिनमें से एक फिल्म में सोनू सूद भगत सिंह बने। शहीदे आजम नाम से एक फिल्म पंजाबी भाषा में बनी थी। एक फिल्म रामानंद सागर के बैनर में बनी थी। हिंदी सिनेमा के इतिहास में भगत सिंह को लेकर पहली फिल्म 1965 में मनोज कुमार ने शहीद नाम से बनाई थी, जिसमें भगत सिंह का रोल उन्होंने किया था और सुखदेव का रोल प्रेम चोपड़ा को दिया था। उस साल के बाद बॉलीवुड में भगत सिंह को लेकर किसी निर्माता या निर्देशक ने कोई फिल्म नहीं बनाई।