जरूरत पड़ने पर इस्तीफा वापस लेने को तैयारः पनीरसेल्वम

चेन्नई। वीके शशिकला के खिलाफ बगावत का बिगुल फूंकने के बाद तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ओ पनीरसेल्वम ने आज कहा कि आवश्यकता पड़ने पर वह अपना इस्तीफा वापस ले लेंगे। उन्होंने कहा कि उन्हें मिलने वाला समर्थन राज्य विधानसभा में पता चल जाएगा। शशिकला ने उनके खिलाफ बोलने वाले पनीरसेल्वम को मंगलवार रात अन्नाद्रमुक कोषाध्यक्ष के पद से बर्खास्तकर दिया था।

पनीरसेल्वम ने कहा कि उन्हें (शशिकला) जयललिता के निधन के बाद असाधारण परिस्थितियों में पार्टी का महासचिव बनाया गया। उन्होंने कहा कि स्थायी महासचिव चुनने के लिए जल्द ही चुनाव कराए जाएंगे। पनीरसेल्वम ने आक्रामक रुख अपनाते हुए कहा कि उन्हें मिलने वाले समर्थन का पता राज्य विधानसभा में चल जाएगा। पनीरसेल्वम ने कहा, आवश्यकता पड़ने पर मैं अपना इस्तीफा वापस ले लूंगा। इस दौरान पनीरसेल्वम के साथ पांडियन, पार्टी के राज्यसभा सांसद मैत्रेयन और वीसी अरूकुट्टी समेत कई नेता मौजूद थे।

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ने यह भी बताया कि जयललिता के 75 दिन अस्पताल में भर्ती रहने के दौरान वह एक बार भी उनसे नहीं मिल सके। उन्होंने कहा कि दिवंगत नेता के निधन एवं उनके स्वास्थ्य संबंधी संदेहों की जांच के लिए उच्चतम न्यायालय के मौजूदा न्यायाधीश के नेतृत्व में जांच आयोग गठित करने की सिफारिश करेंगे।