जीनिए: भारत छोड़ो आंदोलन से जुड़ा अमिताभ का ये दिलचस्प वाक्या

नई दिल्ली। 9 अगस्त यानि भारत छोड़ो आंदोलन का वो दिन जिसमें हर एक भारतीय ने अपनी भूमिका बाखूबी निभाई। 75 साल पहले का वो दिन एक ऐसा मूवमेंट था। जिसको आज तक याद किया जाता है। हालांकि 75 साल पहले के उस वक्त से एक वाक्या बच्चन परिवार से भी जुड़ा है। भारत छोड़ो आंदोलन के एक मूवमेंट से प्रभावित होकर हरिवंश राय बच्चन ने अमिताभ का नाम इकबाल रख दिया था। लेकिन बाद में उनके एक दोस्त ने अमिताभ का नाम इकबाल से अमिताभ रखवा दिया।

 bollywood, amitabh bachchan, Iqbal, bharat chhodo andolan
amitabh bachchan

बता दें कि 9 अगस्त 1942 को माहत्मा गांधी के नेतृत्व में भारत छोड़ो आंदोदल की शुरूआत की गई थी। साथ ही इस आंदोलन को शुरू करने के दो महीने बाद ही महानायक अमिताभ बच्चन का जन्म हुआ था। अमिताभ के जन्म के बाद उनके पिता ने उनका नाम इकलाब रख दिया। लेकिन हरिवंश राय ने अपने दोस्त सुमित्रानंदन पंत के कहने पर उनका नाम बदलकर इकबाल रख दिया।

वहीं अमिताभ के नाम को लेकर कहा जाता है कि जब हरिवंश राय बच्चन और उनकी पत्नी तेजी बच्चन अस्पताल में थे तो वहीं उनके दोस्त पंत पहुंच गए और अमिताभ को देखकर वो बोले कि ये बच्चा कितना शांत है बिल्कुल ध्यानस्थ अमिताभ की तरह इसी पर अमिताभ के पिता ने उनका नाम इकबाल से बदलकर अमिताभ रख दिया। इतना ही नहीं अमिताभ के पिता ने अपना भी सरनेम बदल दिया था। अगर वो अपना सरनेम नहीं बदलते तो वो हरिवंश राज श्रीवास्तव कहताते और अमिताभ बच्चन से श्रीवास्व बन कहलाते।