राजस्थान को धार्मिक पर्यटन क्षेत्र की दिलाएंगे पहचान : वसुन्धरा राजे

राजस्थान। राजस्थान को धार्मिक पर्यटन स्थल के तौर पर पहचान दिलाने के बारे में प्रदेश की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा कि हम अपनी संस्कृति, देवी-देवताओं व संत-महात्माओं के आशीर्वाद से जल्द ही इस दिशा में कार्य करेंगे। सरकार ने अभी प्रदेश में 11 धार्मिक स्थलों का जीर्णोद्धार करने की नीति बनाई हैं। जिसकी डीपीआर भी बना ली गई है। सोमवार को नागौर जिले के अमरपुरा ग्राम पहुंची प्रदेश मुख्यमंत्री ने संत लिखमीदास महाराज के मंदिर में मूर्ति के प्राण प्रतिष्ठा एवं स्मारक लोकार्पण समारोह के दौरान ये बातें कहीं।

raje

उन्होंने बताया कि सरकार प्रदेश के 33  जिलों में स्थित मंदिरों का विकास कर उन्हें देश भर के लोगों के लिए अास्था का केंद्र बनाने की योजना कर रही है। जोधपुर से रामदेवरा तक पैदल जाने वाले यात्रियों के लिए नए मार्ग बनाए जाएंगे। इसके अलावा पदयात्रियों की सुविधा के लिए आने वाले दो सालों में अनके प्रकार की योजनाएं लाई जाएगी।

इसके अलावा नागौर में हिमालय का पानी पहुंचाने की योजना के बारे में भी उन्होंने बताया। नहर के पानी से नागौर जिले को जोड़ने के बाद 11 शहर, 1075 गांव एवं 3667 ढाणियों में हिमालय का मीठा पानी मिल पाएगा। इसके अलावा जिले में सडक़क निर्माण कार्य के लिए भी सरकार योजनाएं बना रही है।