हल्द्वानी में खुली शराब की चलती फिरती दुकान

उत्तराखंडः सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद हाइवे पर कोई भी शराब की दुकान नहीं रहेगा। सुप्रिम कोर्ट के आदेश के बाद से ही ठिकेदार इसका विरोध कर रहे हैं। जिसके बाद आबकारी विभाग ने इसका एक नया तरीका ढूंढ लिया है। लाइसेंस धारी शराब को पिकप में रखकर अब कहीं भी बेच सकते हैं। जिसकी अनुमति अबकारी विभाग ने एक शराब के दुकानदार को दे दी है। मामला हल्द्वनी का है। हल्द्वानी के नैनीताल हाइवे रोड से एचएमटी फैक्ट्री के तरफ जाने वाले सड़क पर एक नये तरीके से ही शराब की दुकान खुली है। जिसको देखकर लोग काफी हैरान हो रहे हैं। जहां पिकप में रखकर शराब को बेचा जा रहा है।


आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने हाइवे से शराब कि दुकानों को जब हटाने का फैसला लिया था तो सभी शराब के ठेकों को हाइवे किनारे से हटा दिया गया था। ऐसे में दुकान को सड़क से 300 मी दूर दोगड़ा गांव में खोलने की इजाजत मिली। लेकिन यहां पर भी शराब की दुकान खुलने का ग्रामीणों ने विरोध किया। साथ ही वे सामूहिक अनशन पर बैठ गए जिसके कारण शराब कि दुकान वहां नहीं खुल सकी। हालांकि ठेकेदारों ने दुकान को बगल के चोपड़ा गांव में शिफ्ट कर दिया लेकिन वहां के लोग भी इसका विरोध करने लगे जिसके कारण दुकान वहां भी नहीं खुल सकी। अब दुकान के मालिकों के पास दुकान खोलने का कोई भी रास्ता नहीं बचा था। जिसके बाद दुकान के मालिकों का खासी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था।

ऐसे में आबकारी विभाग ने दुकान को खोलने का एक नया तरीका अपनाया। अबकारी विभाग ने दुकान को एक पिकप में खोलने का फैसला लिया जो कि हाइवे से 290 मी की दूरी पर खोली जा सकती है। हालांकि अबकारी विभाग ने ठेकेदारों के उपर एक शर्त रखी है कि दुकान को इस क्षेत्र के हाइवे से दूर ही खोला जा सकता है। आबकारी अधिकारी दुर्गेश त्रिपाठी के अनुसार दुकान के मालिकों के इसका पूरा लिखित में प्रमाण देना होगा कि अगर दुकान कहीं और पाई गई तो इस पर कड़ी कार्रवाई होगी। लेकिन शराब की यह पहली दुकान है जो कि पिकप में चलती फिरती खुली है।