शिवालयों में उमड़ा श्रद्धा का सैलाब

हरिद्वार। शुक्रवार को जलाभिषेक होने के कारण तीर्थनगरी हरिद्वार के सभी शिवालयों में भगवान शिव का जलाभिषेक करने के लिए लोगों को हुजूम उमड़ पड़ा। लोगों ने बहुविधि भगवान शिव का जलाभिषेक कर सुख-समृद्धि की कामना की। हजारों कांवड़ियों ने भी दक्षेश्वर महादेव व विल्वकेश्वर महादेव मंदिर में जलाभिषेक किया।

shivling and devotees

त्रयोदशी पर भगवान शिव के जलाभिषेक का सिलसिला प्रातः तड़के से ही आरम्भ हो गया था। जैसे-जैसे दिन चढ़ता गया शिवालयों में श्रद्धालुओं की संख्या में भी इजाफा होता गया। श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए पुलिस प्रशासन ने भी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं। शिवालयों पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया। लोगों ने बहुविधि अपने आराण्य भगवान शिव का अभिषेक किया।

इस दौरान तीर्थनगरी के दक्षेश्वर महादेव मंदिर, विल्वकेश्वर महादेव मंदिर, गौरी शंकर महादेव, नीलेश्वर महादेव, तिलवर्धनेश्वर महादेव, दरिद्रभंजन महादेव, पातालेश्वर महादेव समेत सभी शिवालयों में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ रही। मंदिरों में रात्रि चतुर्थ प्रहर की पूजा की तैयारियां भी जोरों पर जारी रहीं।

धार्मिक मान्यताओं की मानें तो सावन में हरी पत्तेदार सब्जियां बिल्कुल नहीं खानी चाहिए दरअसल ये वात को बढ़ाती है इसके अलावा मानसून के दिनों में इनमें कई बैक्टेरिया और कीड़े भी देखे जा सकते हैं इसलिए सावन में हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन नहीं करना चाहिए।

बैंगन सावन के महीने में नही खाना चाहिए ऐसा माना जाता है कि बैंगन अशुद्ध होता है इसके अलावा कार्तिक में भी बैंगन नहीं खाया जाता अगर दूसरा पक्ष देखा जाए तो बारिश के दौरान बैंगन में कीड़े ज्यादा लग जाते हैं जो नुकसान पहुंचा सकते हैं।