डीएम और एसएसपी से मिले व्यापार वर्ग के लोग, नई मंडी घटना पर सख्ती की मांग

मेरठ। बुधवार को मेरठ जिले में कार्यभार संभालने पहुची नई डीएम वी चंद्रकला ने आते ही जिले में चल रही गतिविधियों का जायजा लिया। गुरुवार को नई मंडी हत्याकांड को लेकर डीएम और एसएसपी से अध्यक्ष नवीन गुप्ता, व्यापारियों के साथ मुलाकात करने पहुंचे जहां व्यापार वर्ग के लोगों ने अपनी अपनी मांग रखी। व्यापारियों ने डी0एम से पीड़ित परिवार को 50 लाख का मुआवजा और अपराधियो को जल्द से जल्द पकड़ने के लिए भी कहा, साथ ही नयी मंडी को चारों तरफ से अत्यधुनिक सुरक्षा से लैस करने, व्यापारियों को विरासत(शस्त्र) लाइसेंस देने आदि की मांग की है। इस पर डी0एम ने एसएसपी से नवीन मंडी हत्याकांड के सम्बन्ध में बातचीत करने का आश्वासन दिया। मुख्यमंत्री के विशेष सचिव से अधिक से अधिक आर्थिक सहायता दिलाने, नयी मंडी को मॉडर्न टेक्नोलॉजी की सिक्योरिटी प्रदान कराने की भी बात कही जिससे आगे की घटनाओं पर अंकुश लग सके तथा विरासत लाइसेंस प्रक्रिया शुरू करने का आश्वासन दिया ।

meert

क्या था मामला- मेरठ में सांझ ढलते ही बदमाशों ने पहले एक नई मंडी की एक दुकान में घुसकर व्यापारी से कैश लूटा, फिर दूसरे व्यापारी को लूटते समय विरोध होने पर गोली मार दी। आनन-फानन में व्यापारी को अस्पताल ले जाया गया जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना से इलाके में हड़कम्प मच गया और इस वारदात के विरोध में व्यापारी इकठ्ठा हो गये, लेकिन कुछ देर बाद व्यापारियों में आपस में ही मारपीट हो गई, जिसे व्यापार संघ चुनावों से जोड़कर देखा जा रहा है।

थाना ट्रांसपोर्ट इलाके की नवीन मंडी में बुधवार की शाम को सात बजे के लगभग बाइक सवार तीन बदमाशों एक दुकान पर बैठे मीनू नाम के व्यापारी को गन पाइंट पर लेकंर लगभग सवा दो लाख रुपये से भरा एक बैग लूट लिया। एक दुकान पर लूट करने के बाद ये बदमाश दूसरे दुकान पर लूटपाट करने घुस गये। बदमाशों ने तिलहन व्यापारी पवन गोयल से गल्ले में रखा कैश मांगा तो व्यापारी पवन ने विरोध कर दिया, विरोध करने पर बदमाशों ने व्यापारी को गोली मार दी और फरार हो गये। घटना के समय दुकान पर पवन और उसका नौकर था। पवन के गोली गले में लगी और उसे तत्काल के एम सी अस्पताल ले जाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। व्यापारी से लूट में सफल न हो पाने पर गोली मार देने की की सूचना मिलते ही आसपास के व्यापारी और व्यापारी नेता घटना स्थल पर पहुंच गये। दिन ढलते ही लूट और हत्या को लेकर व्यापारियों में पुलिस के प्रति रोष था। जिसके चलते मौके पर पहुंची पुलिस का व्यापारियों द्वारा घेराव किया गया।

rahul-gupta-meerut-reporter (राहुल गुप्ता, संवाददाता)