…उत्तर प्रदेश की सियासत में ‘WOMEN WAR’

उत्तर प्रदेश के चुनावी रण में सियासत के शिखर पर पहुंचने वाली दोनों महिलाओं के बीच जुबानी जंग जारी है। एक महिला है यादव परिवार और समाजवादी पार्टी की नेता डिंपल यादव तो दूसरी हैं टीवी से लेकर राजनीति का सफर तय करने वाली स्मृति ईरानी।

डिंपल यादव जनता के दिलों में जगह बनाकर सांसद तो बन गई है लेकिन सेल्फी खींचवाने में कहीं ना कहीं पीछे ही रहती है। सेल्फी को लेकर डिंपल इलाहाबाद की रैली में कार्यकर्ताओं पर भड़क भी चुकी है और कार्यकर्ताओं को उनके भईया अखिलेश यादव से शिकायत करने की धमकी भी दे चुकी हैं। डिपल की धमकी का अंदाज ही कुछ ऐसा था कि राजनीतिक पार्टियों ने इसे मुद्दा बना लिया, तो किसी ने इसका माखौल सोशल मीडिया पर उड़ाया।

स्मृति को सताई चिंता

सबसे पहले डिंपल की सुरक्षा की चिंता सताई केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को। अमेठी में जनसभा को संबोधित करते हुए ईरानी ने पहले तो सपा सरकार की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए कहा कि जब सीएम की पत्नी को डर लगता है तो यूपी में कानून व्यवस्था का अंदाजा लगाया जा सकता है। निशाना साधने के बाद डिंपल यादव को आश्वासन देते हुए ईरानी ने कहा, सीएम की पत्नी चिंता ना करें, प्रदेश में भाजपा की सरकार बनते ही पार्टी पहले डिंपल यादव की सुरक्षा मुहैया कराएगी।

 

डिंपल को भी आया गुस्सा

स्मृति को चिंता सताई तो डिंपल को गुस्सा आ गया। स्मृति की चिंता पर बोलते हुए डिंपल ने कहा कि  स्मृति ईरानी भाजपा शासित प्रदेशों की चिंता करें जहां कानून व्यवस्था खराब है और अपराध बढे़ हैं। यूपी तो अपराध में 22वें नंबर पर है, इतना ही नहीं डिंपल ने स्मृति को निशाना बनाते हुए यह तक कह डाला कि यह सास-बहू का सीरियल नहीं है बल्कि ध्यान से सोच, समझकर निर्णय लेने वाला गंभीर विषय है।

डिंपल ने स्मृति पर वार करते हुए यहां तक कह दिया कि वो चुनावी जनसभाओं में सीरियल वाले डायलॉग बोलती हैं।

बसपा की चुटकी

एक तरह दोनों नेताओं के बीच जुबानी जंग जारी है तो दूसरी तरफ बसपा इस जुबानी जंग में सोशल मीडिया के जरिए चुटकी लेने में लगी हुई है। बसपा ने अपने ट्विटर पर लिखा है “ना गोली की मार से ना तलवार की धार से, गुंडे डरते हैं तो सिर्फ बहनजी की सरकार से। डिंपल को सुरक्षा का एहसास कराने को बहनजी को आने दो।”

यूपी की राजनीति रोजाना रंग बदल रही है इस राजनीति की जंग में दो पार्टियों के बीच भाषण और जुबानी जंग के बीच अपना उल्लू सीधा करने में लगी हुई है।

 अभिलाष श्रीवास्तव