सर्दियों में इनके प्रयोग से नहीं होगा खांसी-जुकाम

नई दिल्ली। सर्दियों का मौसम शुरु होते ही जो सबसे बड़ी समस्या सामने आती है वो है कॉमन कोल्ड यानी खांसी-जुकाम। सर्दियों में मौसम में होने वाले बदलाव के कारण शरीर में कई तरह के बदलाव होते हैं। सर्दियों के मौसम में अगर खुल कर मजा करना चाहते हैं तो बस कुछ चीजों पर सावधानी बरतने की जरुरत है।

शहद-

शहद जाड़े में बेहद खास होता है। किसी भी बीमारी से बचाने के लिए शहद सबसे रामबाण इलाज होता है। शहद पीने से खासी की समस्या दूर होती है। शहद का सेवन चेहरे पर निखार भी लाता है और कई तरह की बीमारियों से लड़ने में मदद करता है।

गुनगुना पानी-

जाड़े में प्यास तो कम ही लगती है, लेकिन बेहतर होगा जब भी पानी पिएं हल्का गुनगुना ही पिएं। हल्के गर्म पानी से जुकाम होने की संभावना कम हो जाती है साथ ही गर्म पानी आपके शरीर में गर्मी बनाए रखता है।

फ्रिज के सामान-

जाड़े के वक्त में वैसे तो फ्रिज के सामान का इस्तेमाल कम ही होता है। कभी-कभी लोग फ्रिज में से तुरंत फल निकाल कर खा लेते हैं और जुकाम का शिकार हो जाते हैं। जाड़े में फल खाना नुकसान देह नहीं होता है। फल खाएं, लेकिन वो फ्रिज में ना रखा हो। कोल्ड कॉफी या ठंडी चीजों का सेवन कम से कम करें।

सब्जिय़ां-

गाजर, मटर, पपीता, हरी पत्तेदार सब्जियां और अदरक-तुलसी सेहत के लिए काफी फायदेमंद होते हैं। सर्दियों में मक्के की रोटी, सरसों का साग, मैथी के पराठे, टमाटर का सूप और चटनी जितने स्वादिष्ट हैं उतने पौष्टिक भी। जाड़े में मिलने वाली ये सब्जियां सेहत के लिए असरदार होती हैं। सही खान पान से सर्दी-जुकाम होने के आसार कम हो जाते हैं।