सूबे को तकनीकि से जोड़ने की सीएम अखिलेश ने की पहल

लखनऊ| उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने गुरुवार को इलेक्ट्रॉनिक प्वाइंट ऑफ सप्लाई (ई-पीओएस) मशीन योजना के तहत खाद्य वितरण का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि उप्र सरकार की कोशिश है कि आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल कर ज्यादा से ज्यादा गरीबों को लाभ पहुंचाया जा सके। लखनऊ स्थित लोकभवन में एक कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने इस योजना की शुरुआत करते हुए यह बातें कही।

cm-akhilash

उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के खात्मे के लिए हम तकनीक का इस्तेमाल कर रहे हैं। जनता को लाभ देना बड़ी चुनौती है। अखिलेश ने कहा, “मैं समझता हूं कि रतन टाटा का उप्र से गहरा रिश्ता बनता जा रहा है। अखिलेश ने कहा कि टाटा से और ज्यादा काम करने की प्रेरणा मिलती है।”सरकार की उपलब्धियों गिनाते हुए उन्होंने कहा कि सपा सरकार हर क्षेत्र में काम कर रही है। समाजवादी पेंशन में भी तकनीक का प्रयोग किया गया। अब स्मार्टफोन जनता से भी जुड़ेंगे। अभी इसकी शुरुआत शहरी क्षेत्र से हो रही है। बाद में यह गांवों तक भी पहुंचेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि समाजवादियों ने तकनीका के इस्तेमाल से भ्रष्टाचार पर लगाम लगाई है। लैपटॉप इतने बांट दिए हैं कि किसी प्रदेश में इतने लैपटॉप नहीं बांटे गए। लोग सपना दिखा रहे हैं और हम काम कर रहे हैं।इस मौके पर मौजूद टाटा समूह के अध्यक्ष रतन टाटा ने कहा कि उत्तर प्रदेश लगातार विकास कर रहा है। अखिलेश काफी प्रगतिशील मुख्यमंत्री हैं। वह प्रदेश में नित नए विकास कर रहे हैं। अखिलेश अब मुझे करीबी दोस्त लगने लगे है। उनसे जुड़ना मेरे लिए सम्मान की बात है।

प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री कमाल अख्तर ने कहा, “प्रदेश सरकार टाटा ट्रस्ट के सहयोग से इस परियोजना को लखनऊ नगर की 675 राशन की दुकानों पर चला रही है। जहां ई-पीओएस मशीन के माध्यम से लाभार्थियों को अनाज उपलब्ध कराया जा रहा है। इसकी सफलता के बाद परियोजना का चरणबद्ध विस्तार करने का फैसला किया गया है।”