शिवपाल खेमे के 9 नेताओं को अखिलेश ने दिखाया बाहर का रास्ता

लखनऊ। सपा में सियासी घमासान थम गया, अखिलेश ने कांग्रेस के साथ हाथ मिलाकर महागठबंधन का ऐलान भी कर दिया। महागठबंधन के बाद अखिलेश चुनावी प्रचार में भी जुट गए है लेकिन लगता है चाचा शिवपाल से अखिलेश की नाराजगी अब भी खत्म नहीं हुई है। प्रदेश में पहले चरण के मतदान होने में महज 2 दिन का समय बचा हुआ है इसी बीच पार्टी के पूर्व विधायक और कार्यकारिणी के उपाध्यक्ष सहित 8 नेताओं को बाहर का रास्ता दिखा दिया है। यह सभी नेता शिवपाल यादव के करीब बताए जा रहे हैं।

बताया जा रहा है कि अखिलेश यादव के आदेश के बाद प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम ने सभी नेताओं को पार्टी से बाहर करने का आदेश सुनाया। अखिलेश के इस फैसले के बाद एक बार फिर से प्रदेश की राजनीति का पारा चढ़ सकता है।

मिली जानकारी के मुताबिक सपा ने हाथरस के पूर्व एमएलसी राकेश सिंह राना को पार्टी के निर्देशों की अवहेलना करने और पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी के विरोध में सिकंदराराऊ से चुनाव लड़ने के आरोप में निष्कासित किया है। तो वहीं समाजवादी पार्टी के हाथरस जिला कार्यकारिणी के उपाध्यक्ष नरेंद्र यादव एवं अवनीश सिसोदिया को अनुशासनहीनता व पार्टी निर्देशों की अवहेलना के आरोप में 6 वर्ष के लिए निष्कासित कर दिया गया है।

समाजवादी पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी का विरोध करने और अनुशासनहीन आचरण के आरोप में बरेली के पूर्व विधायक महिपाल सिंह यादव, झांसी के बॉलक प्रमुख बंगरा शशि यादव, पूर्व ब्लॉक प्रमुख बंगरा लेखराज सिंह यादव और पूर्व पदाधिकारी मऊ रानीपुर हाजी महमूद को भी समाजवादी पार्टी से 6 सालों के लिए बाहर का रास्ता दिखा दिया था।