अंडरवर्ल्ड की दुश्मनी का असर, मेरठ में गैंगवार की आशंका

मेरठ। अभी तक मेरठ के अपराधियों की अंडरवर्ल्ड से दूरी थी, लेकिन बीते रविवार की रात को अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा शकील के शूटर की दुश्मनी में मेरठ के कोतवाली क्षेत्र में एक पार्षद समेत दो लोगों को मौत के घाट उतार दिया गया। इस दोहरे हत्याकांड से मेरठ में गैंगवार छिड़ने की आशंका गहरा गई है। ऐहतियात के तौर पर कोतवाली क्षेत्र में पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है।

बता दें कि शहर कोतवाली के पीछे कसाई वाली मस्जिद के पास बीते रविवार की रात को नगर निगम के वार्ड 66 के पार्षद आरिफ को हेयर सैलून में घुसकर बदमाशों ने गोलियों से छलनी कर दिया। आरिफ की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि उसका रिश्तेदार शादाब बुरी तरह से घायल हो गया, जिसने देर रात अस्पताल में दम तोड़ दिया। पार्षद आरिफ कुख्यात बदमाश सलमान का चाचा था। आरिफ के सिर में पांच से छह और शादाब को दो गोली लगी। इस घटना के पीछे सलमान और शारिक गैंग के बीच चल रही गैंगवार और आरिफ की अंडरवर्ल्ड डाॅन छोटा शकील के शूटर शाहीन से रंजिश को कारण माना जा रहा है। शाहीन और शारिक द्वारा सलमान के खिलाफ एक-दूसरे से हाथ मिलाना घटना का कारण है। मेरठ की गैंगवार में अंडरवर्ल्ड की एंट्री से पुलिस और खुफिया एजेंसियों के कान खड़े हो गए हैं। एसएसपी मंजिल सैनी एसपी सिटी मानसिंह चैहान, एसपी क्राइम शिवराम यादव समेत कई थानों की फोर्स, आरआरएफ, आरएएफ और पीएसी मौके पर पहुंची। तनाव को देखते हुए मौके पर फोर्स तैनात कर दी गई है। एसएसपी ने पुलिस को हर पहलू पर जांच करके कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

वहीं गाजी बिरादरी में वर्चस्व को लेकर पार्षद आरिफ और शारिक गैंग के बीच ढाई साल से खूनी अदावत चल रही है। इस दुश्मनी के पीछे हथियारों की सप्लाई और जाकिर कालोनी में सट्टे की वसूली बताया जा रहा है। इस रंजिश के बीच किन्नर शमशाद और पूर्व पार्षद हाजी फाको की हत्या भी हो चुकी है। कभी दोनों गैंगों के परिवार पहलवानी के लिए मशहूर थे। पार्षद आरिफ के पिता मम्मू पहलवान थे, जबकि शारिक के पिता सप्पो पहलवान थे। दोनों के घर भी आमने-सामने हैं। दोनों परिवारों में दस साल पहले दोस्ती थी। वसूली को लेकर दोनों के बीच रंजिश शुरू हो गई। आरिफ पर पहले भी कई मुकदमे दर्ज हैं।
अंडरवर्ल्ड की एंट्री से पुलिस सकते में

साथ ही दोहरे हत्याकांड में अंडरवर्ल्ड के शूटर की एंट्री से पुलिस प्रशासन सकते में आ गया है। पुलिस सूत्रों का मानना है कि जिस तरह से मेरठ के बदमाशों का अंडरवर्ल्ड के शूटरों से तालमेल हो रहा है, वह वेस्ट यूपी के लिए खतरे की घंटी है। इससे यहां पर गैंगवार बढ़ने की पूरी आशंका है। पुलिस इस गैंगवार को बढ़ने से पहले ही खत्म करने की योजना बना रही है।