बुन्देलखण्ड में पहुंचे उमा और केशव मौर्य ने किया प्रचार

ललितपुर। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश अध्यक्ष केशव मौर्य और केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने ललितपुर जिले की महरौनी विधानसभा क्षेत्र में आयोजित चुनावी सभा में विपक्षी दलों को जहां आड़े हाथों लिया वहीं भाजपा के पक्ष में जनता से वोट करने की अपील की। केन्द्रीय मंत्री उमा भारती ने भाजपा प्रत्याशियों के पक्ष में वोट देने की जनता से अपील की। वहीं उन्होंने सपा-कांग्रेस गठबंधन पर भी हमला बोला। उमा ने गठबन्धन पर तंज कसते हुए कहा कि एक ने देश को लूटा और दूसरे ने प्रदेश को। उमा यहीं नही रूकी, उन्होंने अखिलेश यादव को लेकर कहा कि जो अपने पिता का नहीं तो वह प्रदेश का कैसे हो सकता है।

केशव मौर्य ने महरौनी विधानसभा क्षेत्र के सी.बी. गुप्ता ग्राउंड में सपा, बसपा और कांग्रेस को चौतरफा घेरते हुए किसानों की कर्ज माफी की बात प्रमुखता से रखी। उन्होंने कहा कि यूपी में कमल खिलते ही किसानों का कर्ज माफ किया जायेगा। वहीं युवाओं को भाजपा की तरफ मोड़ने के लिए उन्होंने नौकरियों में इंटरव्यू की वैधता खत्म करने की बात कही।
प्रदेश अध्यक्ष ने बुन्देलखण्ड में सूखे के कारण हुई किसानों की दयनीय स्थिति का जिक्र करते हुए सिंचाई संसाधनों को मजबूत करने का वादा किया। उन्होंने कहा कि 3000 हजार करोड़ का मुख्यमंत्री सिंचाई फंड देकर सिंचाई संसाधन मजबूत किये जायेंगे। उन्होंने कहा कि सूखे के कारण किसानों की आत्महत्याओं का सिलसिला यहां जारी रहा। भाजपा सरकार बनने के बाद बुन्देलखण्ड के किसी किसान को आत्महत्या नहीं करनी पड़ेगी।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि केन्द्र ने किसानों के लिए करोड़ों रुपये भेजा, लेकिन फसल की बर्बादी पर सपा ने किसानों तक मुआवजा राशि नहीं पहुंचायी। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार बनने के बाद हिसाब किताब बराबर होगा। हमारी सरकार प्रदेश के किसानों को बिना ब्याज के ऋण देगी। मौर्य ने कहा कि सरकार आने पर एक करोड़ गरीबों के गरीब कार्ड बनाये जायेंगे। छात्रों को निःशुल्क शिक्षा दी जायेगी। बूचड़खाने बंद होंगे। उन्होंने सपा पर हमला बोलते हुए कहा कि सपा का झण्डा लगाकर सरकार के गुण्डों ने गरीबों की जमीनों पर कब्जा किया। भाजपा की सरकार बनी तो भूमाफिया और कब्जा करने वाले जेल में होंगे। प्रदेश में आने वाली नौकरियों में 90 प्रतिशत प्रदेश के ही लोगों को नौकरी दी जायेगी। प्रदेश के दो चरणों में हुए चुनाव में बीजेपी 90 सीटें से अधिक जीत रही है। पूरा प्रदेश मोदीमय हो गया है।

महरौनी विधानसभा में भाजपा ने इस बार मनोहर लाल पंथ को प्रत्याशी बनाया है। इस सीट पर भाजपा आखिरी बार 2002 में जीती थी। इस बार उसे उम्मीद है कि ललितपुर में भी कमल खिलेगा और केन्द्र के बाद यूपी में भाजपा की सत्ता वापसी होगी।