उज्जवला योजना में गड़बड़ी की होगी जांच

नई दिल्ली। उज्जवला एलपीजी कनेक्शन वितरण में कुछ स्थानों में एलपीजी वितरकों द्वारा केवल चूल्हा प्रदाय किए जाने की शिकायत पर कलेक्टर ने सत्यापन महिला एवं बाल विकास विभाग के माध्यम से करने के निर्देश दिए हैं।

ujjwala, scheme, disrupted, lpg connection, bal vikash
Ujjawala yojna, lpg connection

मंगलवार को आयोजित समय सीमा बैठक में कलेक्टर धनंजय देवांगन ने गैस कनेक्शन वितरण की ग्राम पंचायत वार तथा ग्रामवार जानकारी महिला एवं बाल विकास विभाग को उपलब्ध कराने के निर्देश खाद्य नियंत्रक को दिए। उन्होंने कहा कि इस सूची के आधार पर आंगनबाड़ी क्षेत्र के अनुसार आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के माध्यम से पर्यवेक्षिकाएं एवं परियोजना अधिकारियों द्वारा एलपीजी कनेक्शन का सत्यापन किया जाएगा।

कलेक्टर ने उज्जवला एलपीजी कनेक्शन के लिए विकासखण्डवार प्राप्त आवेदनों के संबंध में भी जानकारी ली। जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों ने बताया कि जगदलपुर में 6970, बस्तर में 10584, लोहण्डीगुड़ा में 3629, बास्तानार में 2586, दरभा में 1912, बकावंड में 10519 तथा तोकापाल में 2575 आवेदन प्राप्त हो चुके हैं।
कलेक्टर ने कहा कि इस द्वितीय तिमाही में 24 हजार एलपीजी कनेक्शन प्रदाय किए जाने का लक्ष्य है। उन्होंने शासन द्वारा इस वित्तीय वर्ष में बस्तर जिले में 70509 एलपीजी कनेक्शन के वितरण के लिए शेष आवेदनों का संकलन एक सप्ताह के भीतर पूर्ण करने के निर्देश दिए।

कलेक्टर ने आगामी 20 जुलाई को आयोजित पौधारोपण महोत्सव के दौरान सभी ग्राम पंचायत, विद्यालय, महाविद्यालय, आंगनबाड़ी केन्द्र, अस्पताल परिसर, शासकीय कार्यालय एवं घरों के अहातों में पौधरोपण करने के निर्देश दिए। उन्होंने चारदीवारी के अभाव में पौधों को पशुओं से बचाने के लिए स्थानीय संसाधनों से तैयार ट्री गार्ड का उपयोग करने के निर्देश दिए।
उन्होंने बताया कि वृक्षारोपण महोत्सव के अवसर पर परपा में आयोजित जिलास्तरीय समारोह में 10 हेक्टेयर भूमि में पौधरोपण किया जाएगा। इसके साथ ही प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए नामांकन की अंतिम तिथि 31 जुलाई को देखते हुए इसकी आॅनलाईन प्रविष्टि कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए।