पूजा के साथ औषधीय गुणों से भरपूर है तुलसी का पौधा

नई दिल्ली। तुलसी के बारे में हर व्यक्ति इसके गुण और लाभ से परिचित है। हम अच्छी तरह से जानते हैं कि तुलसी में कई रोगों से लड़ने की ताकत होती है। तुलसी एक ऐसा पौधा है जो कि पूजा के काम से लेकर हम हर पवित्र जगह पर इसके पत्तों का इस्तेमाल भी करते हैं। आमतौर पर इस पौधे को हिन्दू परिवारों में विशेष मान्यता होती है। लगभग हर परिवार में ये पौधा पाया जाता है। जहां इसकी पूजा की जाती है, सुहागिन स्त्रियां सुखद वैवाहिक जीवन के लिए इसका पूजन करती हैं। लेकिन इन सबके साथ इस पौधे में कई औषधिय गुण भी पाए जाते हैं। जिसके चलते ये पौधा बहुत ज्यादा गुणकारी और लाभकारी होता है।

तुलसी के पौधे में शरीर के अंदर इम्यूनिटी बढ़ाने के साथ बैक्टीरिया से और वायरल इंफेक्शन से लड़ने की ताकत होती है। इसके साथ ही तुलसी को लगाने से कई तरह के लाभ मिलते हैं। बताया जाता है कि इसका पौधा घर में लगा होतो निगेटिव ऊर्जा घर में नहीं रहती है। तनाव आपके घर से कोसों दूर रहता है। इसके साथ ही यह पौधा मच्छरों के लिए भी बहुत सटीक और कारगर है। तुलसी के पौधे से बारिश में पैदा होने वाले मच्छर और कीड़ों से खासा बचाव होता है।

इसके साथ ही तुलसी का पौधा अगर आपने अपने बेडरूम में लगा रखा है तो ये आपको स्वच्छ ऑक्सीजन देता है। इसके साथ ही ये पौधा कार्बन मोनोऑक्‍साइड, कार्बन डायऑक्‍साइड और सल्‍फर डायऑक्‍साइड जैसी बिषाकत गैसों को शोषित भी करता है। इसके साथ ही आपको घर में और कमरे में एक फ्रेश वातावरण देखने को मिल सकता है। तुलसी का पौधा और उसकी पत्तियों का काढ़ा बुखार, जुकाम और सर्दी जैसी बिमारियों में बहुत लाभदायक होता है। इसको पीने से रोगी को काफी आराम मिलता है। इसके साथ ही ये कॉलेस्ट्रोल का लेवल कम करने के साथ खून को साफ करने का काम भी करता है। इसके अलावा तुलसी का पौधा किडनी की पथरी में भी लाभदायक होता है इसके अर्क को रोज एक चम्मच शहद के साथ लेने से आपकी पथरी दूर हो सकती है।