ट्रंप की नग्न प्रतिमा मैनहटन से हटाई गई

न्यूयॉर्क। न्यूयार्क शहर के अधिकारियों ने राष्ट्रपति पद के रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनॉल्ड ट्रंप की प्राकृतिक रंग की एक आदमकद नग्न प्रतिमा को मैनहटन शहर के यूनियन स्क्वायर से हटा दिया है। एफे न्यूज के मुताबिक, इस प्रतिमा को ‘इनडिक्लाइन’ नाम के समूह के कलाकारों ने बनाया है। भारी भीड़ वाले इलाके के बीच में इस प्रतिमा को लगाने का मकसद ट्रंप के बयानों और नजरिये के प्रति विरोध जताना था।

Trump

ट्रंप की तोंद वाली और चमड़े के रंग की नग्न प्रतिमा को शहर के पार्क विभाग के अधिकारियों द्वारा हटाने से पहले करीब 2 घंटे तक किसी सहारे से चिपकाकर खड़ा किया गया था। विभाग ने एक विज्ञप्ति में कहा है कि इस तरह से बिना अनुमति के अपनी कलाकृति को प्रदर्शित करना गैरकानूनी है। प्रतिमा को हटाए जाने से पहले कई राहगीरों और पर्यटकों ने इसके साथ अपनी तस्वीरें लीं। ‘इनडिक्लाइन’ ने ट्रंप के खिलाफ इसी तरह के प्रदर्शन सिएटल, क्लीवलैंड, लॉस एंजेलिस और सैनफ्रांसिस्को में भी किए हैं।

समूह ने अपने बयान में कहा, “इस प्रतिमा के विपरीत, यह हमारी आशा है कि हमारे समय के फासीवाद और कट्टरता के महाराजा (डोनाल्ड ट्रंप) को दुनिया के सबसे शक्तिशीली राजनीतिक और सैन्य पद (अमेरिकी राष्ट्रपति) पर कभी स्थापित नहीं होने दिया जाएगा। यह अस्थायी प्रतिमा इस अस्थायी दु:स्वप्न को दिखा रही है और इनको गिराने की प्रक्रिया में हम चाहते हैं कि हम पीछे मुड़कर जब देखें तो डोनाल्ड ट्रंप की राष्ट्रपति पद पाने की असफल और भ्रांतिमूलक कोशिशों की हंसी उड़ाएं। “