ट्रंप ने अमेरिका की प्रौद्योगिकी कंपनियों के प्रमुखों के साथ की बैठक

न्यूयॉर्क। अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को अमेरिका की प्रौद्योगिकी कंपनियों के शीर्ष अधिकारियों से मुलाकात की। ट्रंप टावर में हुई मुलाकात का मकसद प्रौद्योगिकी क्षेत्र में कंपनियों की जिम्मेदारियों और नवाचार को बढ़ावा देने पर विचार-विमर्श करना था। समाचार एजेंसी ‘एफे न्यूज’ के मुताबिक, ट्रंप के साथ इन शीर्ष अधिकारियों की मुलाकात बंद कमरे में हुई। संवाददाताओं और कैमरामेन को चर्चा के दौरान शुरू के कुछ ही क्षणों के लिए अंदर जाने की अनुमति दी गई। यह बैठक एक बड़े कांफ्रेंस रूम में हुई जहां ट्रंप के साथ एप्पल, माइक्रोसॉफ्ट, अल्फाबेट, इन्टेल और अमेजन जैसी कंपनियों के प्रमुख बैठे थे।

trump

ट्रंप ने बैठक की शुरुआत में कहा, “यह लोगों का एक बहुत ही शानदार समूह है। मैं यह बताना चाहता हूं कि मैं यहां आपकी मदद के लिए हूं। हम यहां बाजार में उथल-पुथल के बीच आपके साथ हैं और हम चाहते हैं कि आप अद्भुत नवाचार को बनाए रखें। आपके जैसा इस दुनिया में कोई नहीं है। इस कमरे में बैठे लोगों जैसा कोई नहीं है।” ट्रंप ने कहा कि उन्हें इस बैठक में सबको बुलाने के लिए हजारों टेलीफोन करने पड़े। ट्रंप ने कहा, “हम आपके लिए सीमापार व्यापार को बहुत ही आसान करने जा रहे हैं।” इसके बाद संवाददाताओं से कमरे से बाहर जाने को कहा गया।

इस बैठक में ट्रंप के साथ उनके तीनों बच्चे डोनाल्ड जूनियर, एरिक और इवांका भी थे। इसके साथ ही उनका दामाद जेयर्ड कशनर और नवनिर्वाचित उप राष्ट्रपति माइक पेंस भी बैठक में मौजूद रहे। ट्रंप ने समूह के सदस्यों को बताया कि उनकी टीम में कमांड की कोई औपचारिक श्रृंखला नहीं है। उन्होंने कहा कि उन्हें या उनकी टीम के किसी सदस्य को किसी भी समय फोन किया जा सकता है।

बैठक में एप्पल के सीईओ टिम कुक, माइक्रोसॉफ्ट के सत्या नडेला, अल्फाबेट के लैरी पेज और एरिक शिमित, आईबीएम की गिनी रोमेटी, सिस्को सिस्टम्स के चक रॉबिन्स, अमेजन के जेफ बेजोज और इन्टेल के ब्रायन जैनिक ने हिस्सा लिया। इसके अलावा ट्रंप के साथ बैठक में फेसबुक की शेरिल सैंडबर्ग, टेस्ला के एलोन मस्क और ओरेकल की साफ्रा काट्ज भी थीं।