ट्रंप द्वारा एक समझौते को रद्द करने से रिपब्लिकन पार्टी में मचा घमासान

 

नई दिल्ली। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के मुंह से निकली कोई भी बात घमासान मचा देती है और अब एक बार फिर ट्रंप के बयान ने रिपब्लिकन पार्टी में घमासान मचा दिया है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने क्यूबा के साथ हुए समझौते को रद्द कर दिया है। जिसके बाद रिपब्लिकन पार्टी में घमासान मचा गया है। डोनाल्ड ने इस समझौते को एक तरफा करार दिया है। इतन ही नहीं ट्रंप ने क्यूबा पर यात्रा और व्यापार पर भी प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है। ट्रंप का कहना है कि ओबामा सरकार ने क्यूबा के साथ जो यात्रा और व्यापार को लेकर समझौता किया था उससे क्यूबा के लोगों को कोई फायदा नहीं मिलेगा। ट्रंप के इस फैसले से उनकी पार्टी में हंगामा मंच गया है। पार्टी के कई नेताओं ने नाराजगी जताई है।

बता दें कि अमेरिका और ब्यूबा के बीच राजनयिक रिश्तों के लेकर बहाली हुई है। जिसकी वजह से दोनों के बीच काफी सुधार देखने को मिला था। उस समझोते में बराक ओबामा ने क्यूबा के बीच सामान्य रिश्ता बनाने का एलान किया था। ओबामा सरकार के दौर में 54 साल बाद अमेरिका और क्यूबा विरोध को छोड़ कर एक दीसरे के दूतावास को खोलने पर राजी हुए थे। जिसके बाद बराक ओबामा क्यूबा के दौरे पर गए थे। जो 1959 के बाद पहले ऐसे राष्ट्रपति बने जो क्यूबा के दौरे पर गए।

वहीं रिपब्लिकन पार्टी के नेताओं का कहना है कि इस समझौते के रद्द होने से अमेरिका पड़ोस का एक बड़ा बाजार खो देगा। सांसदों का कहना है कि ट्रंप इस पर एक बार फिर सोच ले। उसके बाद ही कई फैसला ले। इस समझौते पर बराक ओबामा की कोशिशों की खूब सरहाना की गई था। व्हाइट हाउस की ओर से दिए गए बयान में कहा गया है कि अमेरिका क्यूबा के साथ अब कोई व्यपार नहीं करेगा। हालांकि क्यूबा और अमेरिका के दूतावास को नहीं हटाया जाएगा।