तीन तलाक पीड़ित महिलाओं की मांग, योगी सरकार करे इंसाफ

बरेली। यूपी के बरेली में 24 घंटे के अंदर तीन तलाक के तीन सनसनीखेज मामले सामने आये है। 3 तलाक के मामले सामने आने के बाद सभी पीड़ित महिलाआें ने पीएम मोदी और सीएम योगी से मुस्लिम पर्सनल लॉ के मामले में दखल देने की अपील की है पीड़ित महिलाआें का कहना है की उन्हें इंसाफ चाहिए।

बरेली की ये है तीन तलाक की सताई हुई रेशमा, रेशमा के साथ शादी के कुछ दिनों बाद ही उसके पति और ससुराल वालो ने अत्याचार शुरू कर दिए लेकिन वो सब कुछ सहती रही, शादी के 9 माह बाद उसके एक बेटी पैदा हुई जिसके बाद ससुराल वालो ने उसका और भी ज्यादा उत्पीड़न करना शुरू कर दिया। नवजात बच्ची बीमार हुई तो उसका इलाज तक नहीं करवाया और 37 दिन की उस मासूम की मौत हो गई जिस दिन रेशमा की बेटी की मौत हुई उसी दिन रात में उसके देवर गुलफाम ने उसके साथ बलात्कार किया और जब उसने अपने पति को अपने साथ हुई वारदात के बारे में बताया तो उसके पति ने उसे मारपीट कर घर से निकाल दिया और डाक द्वारा तीन तलाक का तलाकनामा भेज दिया।

रेशमा ने आज डीआईजी से इंसाफ की गुहार लगाई जिसके बाद डीआईजी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए एफआईआर दर्ज करने के आदेश कर दिए। किला थाना क्षेत्र के चौधरी तालाब मोहल्ले की रहने वाली रेशमा की शादी 27 सितंबर 2015 को ताहिर के साथ हुई थी। 6 नवम्बर 2016 को उसके बेटी हुई और 37 दिन बाद इलाज न मिलने की वजह से 17 दिसम्बर को उसकी मौत हो गई।

 -अंकित पाठक, संवाददाता बरेली