जीएसटी के लॉन्च होने में आ सकती है दिक्कते TMC कर सकती है बॉयकाट

नई दिल्ली। जीएसटी लॉन्च होने में मुश्किलें आ सकती है TMC बॉयकाट कर सकती है कांग्रेस भी इसमें अड़गा लगा सकती है कि राष्ट्रपति के रहते पीएम मोदी कैसे जीएसटी का उद्घाटन कर सकते है। इसके लिए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पुष्टि कर दी है कि उनकी पार्टी 30 जून की आधी रात को गुड्स एंड सर्विसेज़ टैक्स (जीएसटी) को लॉन्च करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा आयोजित किए जा रहे भव्य कार्यक्रम में शामिल नहीं होगी। देश के इतिहास के सबसे बड़े कर सुधार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी लॉन्च करेंगे देस की प्रमुख विपक्षी पार्टी का कहना है कि यह उद्घाटन राष्ट्रपति को करना चाहिए।

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि राष्ट्रपति की मौजूदगी में जीएसटी को प्रधानमंत्री कैसे लॉन्च कर सकते हैं यह सही नहीं हैं।
संसद के सेंट्रल हॉल में आयोजित होने जा रहे समारोह के लिए संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार द्वारा भेजे गए निमंत्रण पत्र में कहा गया है राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी की गरिमामय उपस्थिति में भारत के प्रधानमंत्री द्वारा जीएसटी के लॉन्च के अवसर पर उपस्थिति पार्थनीय हैं।

ममता बनर्जी ने कहास कि विरोध प्रकट करने के लिए उनकी पार्टी जीएसटी लॉन्च में शामल नहीं होगी उन्होंने कहा जीएसटी को लागू करने के लिए की जा रही गैर जरुरी जल्दबाजी भी केन्द्र सरकार की एक और बड़ी गलती है मंगलवार को पश्चिम बंगाल के वित्तमंत्री अमित मित्रा ने कहा था हम बार बार जीएसटी काउंसिल में कहते रहे है कि हम तैयार नहीं है हम कह चुके हैं कि जीएसटी नेटवर्क को एक महीने में तीन करोड़ फाइलें प्रोसेस करनी होंगी क्या आप सोच सकते हैं क्या वे तैयार हैं हम फिर भी कह रहे है हमें आगे खतरा नजर आ रहा हैं।

मालूम हो कि केन्द्र सरकार ने वस्तु एवं सेवाकर जीएसटी 1 जुलाई से लागू करने की तैयारी पूरी कर ली है इसके लिए 30 जून तक जहां संसद के केन्द्रीय हॉल में जीएसटी लॉन्च का कार्यक्रम रखा गया है वहीं केन्द्र सरकार बुधवार को लॉन्च की तैयारी का मॉक ड्रिल या रिहर्सल करने जा रही हैं। केन्द्र सरकार द्वारा दिए गए सूचना की मानें तो सुबह 10 बजे पार्लियामेंट के सेंट्रल हॉल में यह रिहर्सल किया जाएगा इस रिहर्सल की जिम्मेदारी संसदीय मामलों के मंत्री अन्नत कुमार समेत मुख्तार अब्बास नकवी और एसएस अहलूवालिया करेंगे।