यहां पुलिस नहीं रोबोट करता है ट्रैफिक कंट्रोल

नई दिल्ली। इंदौर के एक निजी संस्थान ने पुलिस के साथ मिलकर एक रोबोट बनाया जिसके द्वारा पुलिस ट्रैफिक को भी कंट्रोल करेगी और साथ ही जो भी ट्रैफिक नियम को तोड़ेगा उसकी फोटो खींचकर चालान बनाएगा रोबोट इधर-उधर मूव भी करेगा और माइक से अनाउंसमेंट भी करेगा जो कि ट्रैफिक पुलिस के काम को काफी आसान भी करेगा।


हालांकि यह ट्रैफिक पुलिस के लिए काफी मदद गार साबित होगी क्योंकि धूप हो या सर्दी यह रोबोट 12 महीने काम करेगा। गाड़ियो के चालान के लिए यह उनकी फोटो खींच लेगा और फिर फोटो के आधार पर उनके उपर कार्यवाई होगी। जिसके आधार पर पुलिस आगे कि कार्यवाई करेगी और भविष्य में यह ट्रैफिक सिग्नल की तरह भी कार्य करेगा।
ट्रैफिक पुलिस ने अभी रोबोट को एमआर 9 चौराहे पर रविवार को लगाया गया है। एसपी मुख्यालय मो. कुरैशी के निर्देशन में रोबोट ने कई लोगो की चालान भी किया है। इस रोबोट को संस्थान और पुलिस ने मिलकर डेढ़ सालों में बनाया गया है।
हालांकि संस्थान के विष्णु पसारी के अनुसार अगर कोई भी रेड सिंग्नल को तोड़ता है तो रोबोट उसका फोटो भी खींच कर चालान काट देगा। और आगे की कार्रवाई को पुलिस करेगी अभी रोबोट का ट्रायल चल रहा है। अगर ट्रायल में यह सफल होता है तो इसका और भी इस्तेमाल किया जायेगा। जिससे ट्रैफिक पुलिस को और भी हाईटेक किया जायेगा। प्रदूषण की वजह से पुलिस को वायु प्रदूषण का शिकार हो जाते हैं।
ट्रैफिक पुलिस का कहना है कि अगर कोई भी रेड सिंग्नल को क्रास करता है तो उसे अपने कैमरे में फोटो खींच लेगा और रोबोट उसका ई चालान काटेगा। रोबोट पुलिस कंट्रोंल रुम के वाई-फाई से कनेक्ट होगा, और रोबोट में कई सुविधाएं हैं जो ट्रैफिक को कंट्रोल करने में मदद करेगा।