नये विजन और नये तर्ज पर विकसित होगा उत्तराखंड में पर्यटन उद्योग

देहरादून। उत्तराखंड में पर्यटन तथा निवेशकों को लेकर बढ़ावा देने के लिए लगातार पर्यटन सचिव मिनाक्षी सुंदरम और पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज लगातार प्रयत्नों में लगे हुए हैं। पर्यटन विभाग ने बीते माह जुलाई में भी देश की राजधानी दिल्ली में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज और पर्यटन सचिव मिनाक्षी सुंदरम ने फिक्की के निवेशक समिट 2017 में कई बड़ी पर्यटन योजनाओं को प्रस्तुत किया था। जहां पर सूबे में पर्यटनों को कैसे बढ़ावा दिया जाए तथा पर्यटकों को कैसी आवश्यक सुविधाओं को दिया जाए इन सभी प्रस्तावों को लेकर आकर्षक बनाने के लिए फ्रांस के दौरे पर भी गए थे।

इसी कड़ी में पर्यटन सचिव मीनाक्षी सुन्दरम ने जो विजन विकसित किया है वह पर्यटन विभाग और मौजूदा सरकार उसी विजन पर काम कर रही है। सूबे में पर्यटन के विकास को बढ़ाने के लिए पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने 8 अगस्त को अपनी एक प्रेस वार्ता में बताया कि पर्यटन सचिव के सुझाव पर हम लोगों का पर्यटन मंत्रालय का एक डेलीगेशन फ्रांस के दौरे पर गया था। उन्होने यह भी बताया कि पर्यटन सचिव मीनाक्षी सुन्दरम अपने सुझावों को लेकर जूरिस गए थे तथा वहां जाकर उन्होने सबसे पहले अपने सुझावों के अनुसार फ्रांस की तकनीकि और वहां पर पर्यटन के विकसित करने को लेकर बनाई कई रूपरेखा का विस्तृत अध्ययन किया । जिसके बाद अपने प्रोजेक्टों तैयार किया है। जो कि आने वाले दिनों में सूबे में पर्यटन के क्षेत्र में एक बड़ा कदम होगा।

सूबे में पर्यटन के बढ़वा देने के लिए बड़ी योजनाओं की पूर्ण रूप से तैयार हो गई है। सूत्रों की माने तो सरकार के साथ मिनाक्षी सुन्दरम तथा मंत्री सतपाल महाराज कई प्रोजेकटों को लेकर सूबे में एक नई ऊचाईयों को छूने जा रहे है। इस प्रेस वार्ता में सूबे के सभी इलेक्ट्रॉनिक एवं प्रिन्ट मीडिया के पत्रकारों को बुलाया गया था। यह प्रेस वार्ता उत्तराखंड में पर्यटन के विकास को लेकर तथा पर्यटकों के लिए भविष्य में आने वाली सुविधायों को लेकर विकास की योजनायों को मीडिया के द्वारा पार्दशित करने के लिए रखी गई है।