राज्य सरकार का फैसल मानसून में भी खुले रहेंगे टाइगर रिजर्व : राजस्थान

जयपुर। राजस्थान सरकार का बड़ा फैसला राजस्थान के तीनों टाइगर रिजर्व इस बार मानसून में पर्यटकों के लिए खुले रहेंगे। बाघों को इस बार मानसून के दौरान भी एकांत नहीं मिल पाएगा। राजस्थान के रणथम्भौर, सरिस्का और मुकुंदरा टाइगर रिजर्व में मानसून के दौरान भी टाइगर सफारी बंद नहीं किये जाएंगे।

इसका कारण मानसून के दौरान होने वाली शिकार व अन्य अवांछित गतिविधियों की मॉनिटरिंग को बताया जा रहा है। भारत के सभी टाइगर रिजर्व मानसून के दौरान एक जुलाई से 30 सितंबर तक बंद कर दिए जाते है। इस बारे में राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण (एनटीसीए) ने निर्देष जारी कर रखे हैं। राजस्थान के भी तीनों टाइगर रिजर्व इस दौरान बंद रहते आए हैं। मानसून के समय बाघों को एकांत चाहिए होता है, क्योंकि यह उनके मिलन का समय होता है। मानसून के समय जंगलों में जाना खतरे से खाली नहीं होता है, लेकिन इस मानसून राज्य में इस बार यह टाइगर रिजर्व पर्यटकों के लिए खुले ही रहेंगे।

राज्य के स्टेट बोर्ड ऑफ वाइल्ड लाइफ और टाइगर कंजर्वेशन फाउंडेशन ने स्टैंडिंग कमेटी की बैठक में यह फैसला लिया है। हालांकि इनके जोन बारिश के आधार पर रोटेशन से बंद रखे जाएंगे। वनाधिकारियों का कहना है बाघ पूरे वर्ष ब्रीडिंग करते हैं। तीन माह पार्क बंद रहने से जंगल में गैरकानूनी गतिविधि भी बढ़ जाती है। यदि मानसून में भी जंगलों में पर्यटकों की आवाजाही रहेगी तो ऐसी गतिविधियों पर लगाम लग सकती है।