वन दरोगा बना तेंदुए का निवाला

देहरादून। राजाजी टाइगर रिजर्व से सटे रिहाइशी क्षेत्र में तेंदुए का आंतक लगातार बढ़ता ही जा रहा है। यहां आए दिन तेंदुआ किसी ना किसी को अपना निवाला बनाता है। वही बीती रात तेंदुए ने अपने मुंह का निवाला वन दरोगा को बना लिया। पखवाड़े के अंदर इस तरह की जानलेवा हमले की यह दूसरी घटना है, यहां तीन महीने पहले भी एक युवक को तेंदुए का शिकार बनना पड़ा था। यहां बीती रात दरोगा आनंद सिंह पुराने पुल के रास्ते सत्यनारायण सेक्शन में हरिद्वार हाइवे पर बने अपने सरकारी आवास पर लौट रहे थे जिस बीच तेंदुए ने उनकी जान ले ली।

घर नहीं पहुंचने पर परिजनों ने की छानबीन
कई घंटे बीत जाने पर भी जब दरोगा अपने घर नहीं पहुंचा तो परिजनों ने सुबह उनकी खोजबीन शुरू की। खोजबीन में दरोगा की चप्पल पुराने पुल के किनारे पड़ी मिली। जिसके वहां दरोगा की छानबीन की गई और कुछ ही दूरी पर दरोगा का शव पाया गया।
तेंदुए ने दरोगा के शव को बुरी तरह से क्षत-विक्षत किया हुआ था। शव को देख कर ये कहा जा रहा है कि तेंदुआ पहले से ही घात लगाकर बैठा हुआ था और मौका पाकर तेंदुए ने दरोगा पर हमला कर दिया।