मुलायम के ऐलान के बाद, अब सपा में टिकट का ‘दंगल’

सिंगाही खीरी। सत्तारूढ़ पार्टी सपा में मौजूदा विधायक केजी पटेल का टिकट बदलने से निघासन की राजनीति में भूचाल सा आ गया है। जहां एक तरफ विधायक के खेमें गम का माहौल है वहीं दूसरी तरफ राजीव गुप्ता के खेमें में खुशी का माहौल है। टिकट को लेकर सपा कार्यकर्ताओं में असमंजस की स्थित बन गई हैं।

gupta_patel

बुधवार को सपा में नए प्रत्याशी राजीव गुप्ता के टिकट के घोषणा के बाद चर्चाओं का बाजर गरम हो गया है। पूर्व जिलापं. सदस्य राजीव गुप्ता को पहले से ही विकास कार्यों में रूचि थी। शिवपाल सिंह यादव के बहद करीबी होने के कारण उन्होंने भारत नेपाल सीमा पर बह रही मोहना नदी को बाढ़ कटान से निजात दिलाने के लिए बेलापरसुआ और सूरत नगर में ठोकरों का निर्माण कराया। इसके अलावा क्षेत्र में कई सड़कों का भी निर्माण करावाया था।

उधर सपा विधायक केजी पटेल राष्ट्रीय महासचिव सांसद रविप्रकाश वर्मा के बहनोई हैं। वह निघासन से एक बार विधायक रहे हैं। इसके अलावा मौजूदा विधायक ने निघासन से ढखेरवा टू लाइन सड़क निर्माण, कई पुल तथा पुलिया, बंधा मार्ग समेत करीब एक दर्जन सड़कें आदि बनवाकर विकास कार्यों को बढ़ावा दिया है।

इस पूरे सियासी माहौल पर केजी पटेल का कहना है कि वह सीएम से मिलने जांएगे साथ ही टिकट बदलने के कारणों की जानकारी भी लेंगे। वहीं राजीव गुप्ता का कहना है कि मैंने तो क्षेत्रवासियों की सेवा करने के लिए टिकट की मांग की थी। पार्टी हाईकमान ने टिकट घोषित कर दिया है।

(मसरूर खान, संवाददाता)