तीन तलाक महिलाओं का अपमान – कृषणा राज

गोण्डा। तीन तलाक तो महिलाओं का अपमान है, इसको मा0 उच्च न्यायालय ने भी माना है। हमारी पार्टी तो इस मुद्दे को उठाती रहती है, महिला घर की मुखिया होती है सम्मानित होती है, उसके दिल को इस तरह दो मिट में तोड़ने का अधिकार किसी को नहीं है। मुस्लिम महिलाओं के सम्मान, स्वाभिमान व भविष्य से जुड़े इस ज्वलन्त मुद्दे पर यह बात यूपी के गोण्डा ज़िले में आज केंद्र सरकार में केंद्रीय महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री कृष्णाराज ने मीडिया से मुखातिब होते हुए एक सवाल के जवाब में कहे।

महिला मंत्री आज शहर के श्री रामलीला मैदान में भाजपा द्वारा आयोजित स्वाभिमान सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रूप में बोल रही थीं। हालांकि इस सम्मेलन के माध्यम से भाजपा ने अपरोक्ष रूप से सुप्रीमकोर्ट के ताज़ातरीन आदेशों को धताते बताते हुए दलित वोटरों को लुभाने का चतुराईपूर्ण प्रयास किया है। जबकि इस विषय पर किये गए प्रश्न के जवाब में बड़ी सफाई के साथ उनहोंने मंत्री कृषणा ने पूर्व प्रधानमंत्री लालबहादुर शास्त्री के आज पूण्य तिथि होने व मंच पर उनका नाम लेनी का हवाला देते हुए आपत्तिपूर्ण लहज़े में विषय को ताल दिया।

भाजपा सांसद साक्षी महाराज के चार बीवी 40 बच्चे वाले ब्यान पर किये गए प्रश्न के जवाब में मंत्री बोली कि उनसे पूछिये तो बेहतर होगा। वे बोलीं कि ये मेरा कोई चिंतन नहीं है, ये मेरा कोई विषय नहीं है। उनका अपना मंच है, उनकी अपनी बात है, उनके अपने विचार हैं। नोटबंदी का जनविरोध न होने के बावजूद भी विपक्षी नेताओं द्वारा इतना विरोध क्यों होने के प्रश्न पर कृषणाराज बोलीं कि कष्ट उन्हें ज्यादा है जिनका कालाधन निकल रहा है, जनता तो खुश है क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सबको एक बराबर करने का काम किया है, उन्होंने समरसता कायम किया है।

उत्तर प्रदेश में भी भारत की तरह कमल खिलने का दावा करते हुए केंद्रीय राज्यमंत्री बोलीं कि इसी से सारे वो विपक्षी जो एक दूसरे के धुर विरोधी थे इस तरह इकट्ठे हो रहे हैं जैसे जब विपत्ति आती है तो सारे एक घाट पर इकट्ठा हो जाते हैं। सपा में पिता-पुत्र व चाचा-भतीजे में चल रहे सत्तायुद्ध पर मुलायम सिंह यादव की तरफ इशारा करते हुए मंत्री कृष्णराज ने अपने भाषण में उन्हें धृतराष्ट्र बताया। इस सवाल पर वे पत्रकारों से ही बोलीं की ये तो आप सब समझ ही रहे हैं। उन्होंने कहा कि आप महाभारत पढ़ लीजिये जान जाएंगे।

कार्यक्रम के दौरान प्रशासन द्वारा भाजपा नेताओं के वाहनों पर लगे झंडों आदि के हटाने की कार्यवाही का विरोध करते हुए भाजपा नेताओं ने मंच से ही प्रशासन को निर्वाचन आयोग के नियमों का पाठ पढ़ाया। इस पर मंत्री कृषणा ने सपा की प्रदेश सरकार को निशाने पर लिया और कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार है मैं ये कह सकती हूँ किसी का इशारा हो या न हो किन्तु आदत बिगड़ चुकी है इसे सुधारना होगा सत्ता जैसे जैसे बदलेगी आदतें भी बदल जाएंगी। ये जानबूझकर डिस्टर्ब करने का प्रयास किया गया है, ये पुरानी आदत है….. ये फितरत में है, इसे बदलना पड़ेगा।

विशाल सिंह, संवाददाता