दो लाख मिलने के अफवाह पर महिलाओं ने की हजारो रजिस्ट्रियां

हरदोई। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के नाम पर दो लाख रुपए मिलने की अफवाह पर आजकल यूपी के कई जिलो में पोस्टऑफिस में महिलाओ की भारी भीड़ फार्मो की रजिस्ट्री करने के लिए उमड़ती दिख रही है। बाद में जब इस तरह के फर्जी आवेदनों की जानकारी प्रशासन को हुई तो अधिकारियां और पुलिस ने मौके पर पहुंचकर फार्म जमा करने के लिए महिलाओ को समझाया। तब तक डाक विभाग में भारत सरकार के बाल विकास महिला कल्याण मंत्रालय के नाम पर हजारों रजिस्ट्री हो चुकी थी।

उत्तरप्रदेश के हरदोई जिले में मुख्य डाकघर में महिलाओं और लड़कियों की भीड़ और सभी महिलाये हाथ में लिफाफे पकडे एक अफवाह पर रजिस्ट्री कराने के लिए जुटी है। पूरे डाकघर में अफरातफरी का माहौल है। अफवाह भी प्रधानमंत्री के नाम पर चलायी गयी है, दरअसल यह महिलाएं बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के नाम पर भारत सरकार के बाल विकास एवं महिला कल्याण मंत्रलाय द्वारा दो लाख रुपए दिए जाने के नाम पर यहां जुटी है। शहर में फुटपाथ पर इसके लिए बिक रहे फार्म को यह महिलाये भरकर यहाँ रजिस्ट्री करने आयी है। इस फर्जी अफवाह के बाद पोस्टआफिस में जब अफरातफरी मची तो जिला प्रशासन के अधिकारी भी मौके पर पहुंचे और पूरा मामला जानकार हैरान रह गए।

अधिकारियो ने महिलाओ को इस तरह की कोई योजना ना होने की बात कही लेकिन महिलाएं बिना रजिस्ट्री किये जाने को तैयार नहीं थी। उसके बाद पुलिस को बुलाकर किसी तरह महिलाओ को डाकघर से निकाला गया लेकिन तब तक इस अफवाह के नाम पर डाकघर में हजारो रजिस्ट्री हो चुकी थी। आवेदन में महिलाओ से आधार कार्ड ,उनके बैंक डिटेल समेत कई जानकारी भी मांगी गयी थी। फिलहाल पूरा प्रशासन प्रधानमंत्री के नाम पर दो लाख रुपए दिए जाने वाले फार्म की बिक्री और रजिस्ट्री से हैरान है और उसे यह समझ में नहीं आ रहा है कि किस मनसूबे को पूरा करने के लिए ऐसे अफवाह फैलाई जा रही है और अफवाह फैलाने वालो का क्या मकसद है और इस पूरे गड़बड़झाले के लिए कौन जिम्मेदार है?

 -आशीष सिंह, हरदोई