इस साल अन्तर्राष्ट्रीय फिल्मोत्सव के दौरान होगी भारी भीड़

कोलकाता। महानगर में फिर इस बार 23वे अन्तर्राष्ट्रीय फिल्मोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। इस उत्सव में दो बांग्ला फिल्में-पहला शैवाल मित्र की ‘चित्रकर’ और दूसरा इन्द्राशिस आचार्य की ‘पिऊपा’ आकर्षक रहे हैं। इन दोनों फिल्मों को भारतीय भाषा चलचित्र प्रतियोगिता के लिए चुना गया है। शैवाल मित्र की फिल्म ‘चित्रकर’ में दो अहम चरित्र का अभिनय धृतिमान चटर्जी और अर्पिता चटर्जी ने किया है।

international film festival
international film festival

बता दें कि इस फिल्म की कहानी एक अन्धी चित्रशिल्पी विजन बोस के जीवन पर आधारित है। जिसमें विनोद बिहारी मुखर्जी द्वारा लिखित रोल को चित्रकार के रूप में दर्शाया गया है। इस भूमिका को विजन बोस ने बेहद आकर्षित रूप में दर्शाया है। जो कि हर दर्शक के लिए प्रेरणास्रोत हैं। उन्होंने इसमें जीवन से जुड़ी सच्चाइयों को बाखूबी दर्शाया है। इसके अलावा फिल्म ‘चित्रकर’ में अरुण मुखर्जी, देवदूत घोष, शुभ्रजीत दत्त ने अभिनय किया है।

वहीं दूसरी आकर्षक फिल्म ‘पिऊपा’ की कहानी एक शुभ्र एवं उसके चाचा को लेकर बनाई गई है। इस फिल्म में दोनों मेधावी लेकिन आदर्श एवं सांस्कृति व्यक्ति के रूप में दिखाए गए हैं। शुभ्र के पिता ने नौकरी के दायित्व छोड़ना चाहते हैं। जबकि शुभ्र के चाचा इस बात को ‘माया’ के अलावा कुछ और मानने के लिए राजी नहीं हैं।

साथ ही इसी बात को लेकर यह फिल्म ‘पिऊपा’ बनाई गई है। इस फिल्म में राहुल एवं कमलेश्वर मुखर्जी ने अभिनय किया है। इस तरह इस फिल्मोत्सव में कुल मिलाकर 143 फिल्में दिखाई जाएंगी। शनिवार से दर्शकों की भारी भीड़ एकत्रित होगी।