सेक्स से जुड़ी इन बातों पर क्या आपकों भी है यकीन

नई दिल्ली। लोगों को सेक्स को लेकर कई तरह के मिथ्स होते हैं कई बार इन मिथ्स के कारण सेक्स को आप और आपका पार्टनर एन्जाय नहीं कर पाता सेक्स थेरेपिस्ट ने कुछ ऐसी ही कामन बातों के बारें में बात की हैं।


अच्छा रिलेशन, मास्टरबेशन गलत

मास्टरबेशन गलत हैं एक अच्छे रिलेशन में खासतौर पर महिलाओं को सेक्स की इच्छा कं होने के कारण स्ट्रगल करती हैं। कई लोगों के लिए मास्टरबेशन चुनौतीपूर्ण होता हैं क्योकि वे इसे डर्टी, सेल्फिश और धोखे के रुप में लेते हैं।

इंटरकोर्स के दौरान जरुरी हैं ऑर्गेज्म
2005 की एक स्टडी के दौरान एक तचिहाई महिलाओं के लिए जो कि सेक्स इच्छा कम महिलाओं को इंटरकोर्स के दौरान अकेले ऑर्गेज्म होता हैं। कई महिलाओं को इंटरकोर्स के दौरान ऐसा बहोत ही कम होता हैं। अगर ऐसा ना हो तो ये शर्म की बात है और रिलेशनलशिप में फ्रस्टेशन होता है नतीजन महिलाएं फेक ऑर्गेज़्म करती हैं अधिकत्तर महिलाओं को ऑर्गेज़्म के लिए क्लीटोरल उत्तेजना चाहिए होती है।

क्लिटॅारिस छोटा होता हैं इसे ढूढ़ना मुश्किल हैं

बहोत सी महिलाओं और पुरुषों को इस बात से अंदाजा ही नही होता हैं कि क्लिटोरल ग्लैस सिर्फ सेक्सुअल उतेजना को मिस कर रहै थे। जबकि इंटरकोर्स के दौरान ऐसा बहुत ही कम होता है ऐसे में महिलाओं को उत्तेजना के लिए सेल्फ वाइब्रेशन की जरूरत होती है। कई महिलाओं को इंटरकोर्स के बजाय ओरल सेक्स, मैन्यू्अल सेक्स और वाइब्रेशन के दौरान ऑर्गेज़्म होता है।

दोनो की उत्तेजना जितनी सेक्स का मजा उतना

अगर महिला वैट नही हैं या फिर पुरुष इरेक्ट नही हैं तो इसका मतलब यो नही हैं कि सेक्स को लेकर उत्तेजित नही हैं। आप मानसिक तोर पर उत्तेजित हैं पर शारीरिक तौर पर नही।