सुरंग बनाकर बैंक में घुसे चोर, सीसीटीवी की हार्ड डिस्क सहित कई समानों पर किया हाथ साफ

मेरठ। जनपद में चोरों ने एक बैंक को निशाना बनाकर सुरंग बना डाली, चोरों ने बैंक के अंदर जाकर सभी कम्प्यूटर हार्ड डिस्क चोरी कर ले गए ,चोरों ने सीसीटीवी कैमरों की भी हार्ड डिस्क पर भी हाथ साफ कर दिया। बदमाश स्ट्रांग रूम तक पहुंचने में सफल तो हो गए मगर स्ट्रांग रूम का ताला तोड़ने में असफल नहीं हो सके। जानकारी मिलते ही तुरंत वारदात की सूचना पुलिस को दे दी गई थी।

crime

सूचना मिलते ही मौके पर पहुंच पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है। टीपी नगर थाना क्षेत्र में स्थित दिल्ली रोड पर एक बैंक की सुरंग खोदकर बदमाश बेखौफ होकर बैंक के अन्दर घुस गए। यूनाइटेड बैंक आफ इंडिया के सामने से एक नाला बह रहा था, जिसके ऊपर बैंक का जेनरेटर लगा हुआ है। जेनरेटर की आड़ में बदमाशों ने नाले के अन्दर से तीन मीटर सुरंग खोद ली और बैंक के भीतर घुस गए। बैंक में लगे सीसीटीवी के डीवीआर को चोर अपने साथ ले गए। चोरों ने स्ट्रांग रूम के दरवाजे का हैंडल भी तोड़ दिया। लेकिन बदमाश उस रूम के अन्दर घुसने में सफल नहीं हो पाए। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस ने मौके पर पहुंच कर जांच को शुरु किया।

लेकिन आश्चर्य की बात यह है कि मेन गेट के बाहर से 3 फुट की सुरंग खोद बदमाश बैंक में घुस जाते है और किसी को भनक तक नहीं लगी। 3 मीटर की सुरंग कुछ मिनटों में तो खिंच नहीं सकती है। घटना की जानकारी आज सुबह बैंक खुलने पर कर्मचारियों को हुई। फिलहाल पुलिस मामले की छानबीन में जुट हुई है। आज सुबह जब मेरठ के लोगों की नींद खुली तो यूनाइटेड बैंक की शाखा में बड़ी सेंध लगाई जा चुकी थी। इस बैंक के बाहर से गुजरने वाले नाले से लेकर बैंक के अंदर तक एक सुरंग मिली है।

बैंक का सारा सामान बिखरा पड़ा था और लॉकर रूम पर चोरों की पहुंच साफ-साफ दिखाई दे रही है। इतनी आसानी से सुरंग कैसे खुद गई और चोर इस बैंक में कैसे दाखिल हो गए इस बात का पता ना तो पुलिस को चल पाया और ना बैंक कर्मीयों को। साथ ही बैंक की सुरक्षा में सेंध लग गई है और सब सोते रहे। पुलिस के अफसर अब फोरेंसिक टीम को लेकर मौके पर पहुंचे हैं। बैंक के अफसरों की हवाइयां उड़ी हुई हैं और जांच चल रही है। बैंक में जो सीसीटीवी कैमरे लगे थे, चोरों ने उनका डायरेक्शन भी बदल दिया और सीसीटीवी का डीवीआर भी चोर अपने साथ ले गए हैं। भाजपा के पूर्व अध्यक्ष का कहना है कि बैंक कर्मचारियों की मिली भगत के बिना ये काम नहीं हो सकता