दिल के दौरे के बाद अकेले रहने से हो सकते हैं ये नुकसान…

नई दिल्ली। दिल के दौरे के विषय में हुई एक रिसर्च के मुताबिक दिल के दौरे के बाद अकेले रहना और भी ज्यादा खतरनाक हो सकता है, यही नहीं इसके बाद अगले 4 सालों में मौत भी हो सकती है। दिल के दौरे के एक साल बाद मौत होने की संभावना अकेले रह रहे व्यक्ति की भी उतनी ही होती है जितनी किसी के साथ रह रहे पीड़ित की होती है। ऐसी स्थिति में अकेले रहने वाले व्यक्ति के मरने के 35 प्रतिशत चांसेज बढ़ जाते हैं।

जो लोग अकेले रहते हैं उनके अंदर धीरे-धीरे अकेलापन की वजह से शारीरिक विकास रूक जाता है। उनके साथ घूमने, बाचें करने वाले उस साथी की कमी खटकती रहती है। अकेले पन की वजह से आपका मन शान्त नहीं रहता और इससे कई बीमारियां शरीर को घेर लेती हैं। दिल के दौरे के बाद लिए जाने वाले उपचार के अलावा इन बातों का खयाल जरूर रखें-

– एक बार दिल का दौरा आ जाने के बाद खुद को दवाओं और डाॅक्टर की सलाह के प्रति जागरूक रखें।

– नियमित रूप से ली जाने वाली दवाओं को इन्नोर न करें।

– सकारात्मक वातावरण में रहें। अपने आस-पास के लोगों से घुल मिलकर रहना अच्छा होगा।

– जीवन के प्रति नकारात्मक सोच को हटाएं।

– खान-पान पर नियंत्रण रखें, ज्यादा तला भुना और तेल मसालेयुक्त भोजन आपकी सेहत के लिए खतरनाक हो सकता है, जितना हो सकता है इनसे दूर रहें।

– अकेले रहने से बचें, लोग जब भी ज्यादा अकेले रहते हैं उनके दिमाग में अलग-अलग तरह के विचार आते रहते हैं अच्छा होगा कि किसी न किसी के साथ रहें।

– अपनी दिनचर्या में योगा, व्यायाम आदि को जोड़ें। इससे आपका शरीर स्वस्थ रहेगा।