दिल्ली की इन जगहों पर है भूतों का डेरा, भूलकर भी ना करें सफर

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली प्रशासनिक तौर पर तो खास ही है, घूमने फिरने के लिए भी दिल्ली मशहूर है। हमारे देश के लोग तो यहां घूमने-फिरने आते ही हैं विदेशों से भी लोग यहां का नजारा देखने आते हैं। दिल्ली की पहचान है कुतुबमीनार, इंडिया गेट, अक्षरधाम मंदिर और भी कई मशहूर किले, लेकिन इसी दिल्ली में कुछ ऐसी भी जगह हैं जिसे हॉन्टेड यानी डरावनी जगह माना जाता है।

फिरोज शाह कोटला-
इस किले का निर्माण फिरोज शाह तुगलक ने कराया था। यहां की हवेलियों पर भूतों का वास बताया जाता हैं। वहां के लोगों का कहना है कि यहां खंडहरों में जिन्नों का कब्जा है।

दिल्ली कैंट-

दिल्ली का सबसे सुरक्षित इलाका माने जाने वाला कैंट भूतों के लिहाज से सुरक्षित नहीं है। इस इलाके से गुजरने वालों ने एक बुजुर्ग महिला को घूमते हुए देखा है जो अचानक से गायब हो जाती है।

संजय वन-
ये वन भूतों के होने के डर से काफी प्रख्यात है। इसके भीतर कई सूफी संतों की दरगाह है। लोगों ने कहा कि अक्सर वहां बच्चों के रोने की आवाज आती है।

जमाली-कमाली मस्जिद-

जमाली-कमाली दो महान सूफी संतो के नाम पर इस मस्जिद का नाम रखा गया। लोगों का कहना है कि इन्हें यहीं दफनाया गया था। यहां पर जिन्नों का खौफ है। जिन्न यहां से गुजरने वालों को थप्पड़ मारते हैं।

खूनी दरवाजा-
इस जगह का नाम भर ही आपकी रुह कंपाने के लिए काफी है। इतिहास के पन्नों में ये घटना दर्ज है कि बहादुर शाह जफर के तीन बेटों की ब्रिटिश जनरल विलियम हॉडसन ने बेरहमी से गोली मारकर हत्या कर दी थी। इस जगह का नाम तबसे खूनी दरवाजा रख दिया गया। यहां उनकी आत्मा के भटकने की बात कही जाती है