फिर सामने आई ट्विटर के बिकने की अफवाह

न्यूयॉर्क। माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर एक तरफ अपनी खोई स्थिति हासिल करने के लिए मशक्कत कर रही है, वहीं दूसरी ओर इसके बिकने की अफवाह एक बार फिर सामने आई है। आरई/कोड की बुधवार की एक रिपोर्ट के मुताबिक, ट्विटर के निदेशक गुरुवार को सैन फ्रांसिस्को में बैठक करने वाले हैं, जिसमें यह तय होगा कि यह कंपनी अकेले संचालित हो सकती है या नहीं।

tWITTER

पिछले कुछ महीनों के दौरान ट्विटर के अधिग्रहण की कई बार अफवाहें उड़ चुकी हैं, जिसमें कहा गया कि इसमें गूगल व एप्पल ने दिलचस्पी दिखाई। रिपोर्ट के मुताबिक, “गूगल, एप्पल या मीडिया मुगल रूपर्ट मडरेक की 21 सेंचुरी फॉक्स या न्यूज कॉर्प जैसी बड़ी कॉरपोरेट कंपनियां ट्विटर के अधिग्रहण पर विचार कर सकती हैं।”

ट्विटर के सह संस्थापक तथा बोर्ड के सदस्य इवान विलियम्स ने हाल में कहा था कि जब एक स्वतंत्र कंपनी के रूप में ट्विटर के भविष्य की बात सामने आती है, तो ट्विटर को एक सही विकल्प पर विचार करने की जरूरत है। रिपोर्ट के मुताबिक, ट्विटर को खरीदने के लिए खरीदार को 18 अरब डॉलर देने पड़ सकते हैं। 30 जून तक ट्विटर में 3,860 कर्मचारी काम कर रहे थे।