सरकारी डॉक्टरों की प्राइवेट प्रैक्टिस पर रोक की योजना नहीं : तेज प्रताप सिंह

पटना। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव ने शुक्रवार को विधानसभा के बजट सत्र के आखिरी दिन सदन में कहा कि राज्य के सरकारी अस्पतालों में काम करने वाले डाक्टरों की निजी प्रैक्टिस पर रोक लगाने के बारे में फिलहाल सराकर ने कुछ नहीं सोचा है। इसके साथ-साथ स्वास्थ्य मंत्री ने ये साफ कर दिया कि डाक्टरों का ड्यूटी के टाइम में गायब रहने को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

 

गिरधारी यादव के गैर सरकारी संकल्प पर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि वित्त विभाग की सहमति के बाद डेढ़ दशक पहले राज्य में चिकित्सकों के लिए नॉन प्रैक्टिस भत्ता लागू किया गया था। इसके बाद भी डॉक्टरों की निजी प्रैक्टिस में कोई कमी नहीं आई। फायदा न होता देख नॉन प्रैक्टिस भत्ता योजना बंद कर दी गई।

तेज प्रताप ने कहा कि सरकार डॉक्टरों द्वारा ड्यूटी अवधि में निजी प्रैक्टिस को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इस बात को लेकर सरकार काफी सख्त है और अब इस तरह अपने काम के बीच निजी प्रैक्टिस करने वालों पर कार्रवाई होगी। संजय सरावगी के सवाल पर स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप ने जवाब देते हुए इस बात की जानकारी दी।