समस्तीपुर के 3 फीट का विकास बना लिटिल इंजीनियर, मिला 10 लाख का पैकेज

पटना। वो कहते है ना जहां चाह वहां राह और ऐसा ही कुछ हुआ बिहार के रहने वाले इंजीनियर के साथ। अक्सर लोग कद से लोगों की काबलियत का अंदाजा लगाना शुरु कर देते है लेकिन समस्तीपुर के विकास पोद्दार ने इन सभी बातों को दरकिनार करके एक इतिहास ही रच दिया। विकास हाइट में भले ही 3.6 फीट लंबे है लेकिन अब एनआईटी के सबसे छोटे इंजीनियर बन गए है।

विकास पोद्दार का कद जन्म से ही जेनेटिक डिसऑर्डर की वजह से नहीं बढ़ पाया लेकिन अब उन्हें कैंपस प्लेसपेट के तौर पर 10 लाख का पैकेज ऑफर किया गया है। विकास के पिता की बर्तन की एक दुकान चलाते है और उनकी आर्थिक हालात अच्छी नहीं है। लंबाई में भले ही विकास किसी आम व्यक्ति से थोड़े कम क्यों ना हो लेकिन उनके सपनों की उड़ान उन सभी के बराबर जरुर है। विकास अब दूरसंचार विभाग के सी-डॉट सेंटर में रिसर्च एंड डिवेपमेंट विभाग में काम करेंगे।

रविवार (30-4-17) को विकास को दीक्षांत समारोह में एनआईटी की डिग्री दी गई। विकास मुख्यरुप से बिहार के समस्तीपुर के रहने वाले है और गांव से ही अपनी शुरुआती पढा़ई शुरु की थी। साल 2012 में उन्होंने एनआईटी जालंधर में कंप्यूटर साइंस इंजीनियर्स में एडमीशन लिया था।