पीड़ित ने थाने में खाया जहर पुलिस की टालमटोल से परेशान था

मेरठ। यूपी की पुलिस सुनवाई नहीं हुई तो पीड़ित ने थाने में खाया जहर15 दिन से शिकायती पत्र लेकर थाने के चक्कर लगा रहा था पीड़ित पुलिसकर्मियों ने कभी हड़काया तो कभी बहाने बनाकर वापस घर भेज दिया जाता था लेकिन एक दिन हद ही हो गई और फरियादी ने दुखी होकर खुदखुशी करने का फैसला कर लिया और थाने के अंदर ही जहर खा लिया,वही पर गिर गया।

दरअसल पूरा मामला मेरठ के लिसाड़ी गेट थाने में फरियादी ने पुलिस से परेशान होकर थाने में ही जहर खा लिया बेहोश होकर पीड़ित थाना प्रभारी के कमरे में ही गिर गया पुलिस ने आननफानन में पीड़ित को जिला अस्पताल भर्ती कराया जहां उसका इलाज चल रहा है पुलिस पूरे मामले को दबाने का प्रयास करती रही है। मेईनुद्दीन की पहली पत्नी की मौत 15 साल पूर्व हो गई थी पहली पत्नी से उसे तीन बच्चे भी है दो साल पूर्व मेईनुद्दीन ने खतौली निवासी आसमा से निकाह कर लिया था आसमा के साथ मेईनुद्दीन लक्खीपुरा में रह रहा था छह माह पूर्व पत्नी से विवाद हो गया और आसमा ने मेईनुद्दीन के खिलाफ शादी का झांसा देकर रेप करने का आरोप लगा दिया इस प्रकरण में जांच की जा रही है। पिछले करीब 15 दिन से मेईनुद्दीन लिसाड़ी गेट थाने में पत्नी के खिलाफ शिकायत लेकर जा रहा था। इसके बावजूद उसकी सुनवाई नहीं हो रही थी उसकी शिकायत को जांच में भी शामिल नहीं किया गया बुधवार शाम को भी पीड़ित थाने गया था पुलिसकर्मियों ने हड़का कर पीड़ित को घर जाने के लिए कह दिया इसी से परेशान होकर मेईनुद्दीन ने लिसाड़ी गेट थाने में ही जहर खा लिया मेईनुद्दीन जब बेहोश होकर वहीं गिर पड़े तो पुलिसकर्मियों के होश उड़ गए।
आननफानन में थाने की जीप में डालकर उसको जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया डाक्टरों ने बताया की जहरीला पदार्थ खाया है इस दौरान रात को मेईनुद्दीन को रात के समय होश आया मीडिया ने बात करने का प्रयास किया तो पीड़ित ने बताया की 15 दिन से पुलिस टरका रही थी और दूसरी ओर से लगातार धमकी मिल रही थी पुलिसकर्मी कभी तो मजाक बना रहे थे और कभी हड़का देते थे इसी बात से परेशान होकर थाने में जहर खा लिया हालांकि की पुलिस अधिकारियों का कहना है की पीड़ित ने जहर थाने के बाहर खाया और उसकी सुनवाई क्यों नहीं हो रही थी इस बात की जांच कर कार्रवाई की जाएगी।