एक गांव ऐसा जहां 1जनवरी को जन्में सारे लोग

इलाहाबाद। इलाहबाद के संगमनगरी में एक बड़ा ही अजीबो गरीब मामला सामने आया है। इस गांव के जसरा ब्लॉक के घूरपुर के गांव कंजासा में हर व्यक्ति ने एक ही तारिख को जनम लिया है। मतलब यहां रहने वाले हर इंसान का जन्म 1 जनवरी को हुआ है। ये बात सरकार की तरफ से अनिवार्य आधार कार्ड में भी दर्ज है। इसी आधार कार्ड के सहारे यहां के लोग अपने काम को अंजाम देने के लिए परिचय पत्र के रूप में प्रयोग करते हैं। इसके बाद तो आधार कार्ड में बड़े स्तर की गड़बड़ी सामने आ रही है।

कई महीने किया आधार कार्ड का इंतजार

इस गांव की आबादी करीब पांच हजार है। यहां के लोगों का कहना है कि पहले तो उन्हें इसके लिए काफी इंतजार करना पड़ा और जब आधार कार्ड आया तो उसमें गड़बड़ी का पता चला। आधार कार्ड में सबकी जन्म तिथि एक जैसी दिखाई गई। तब से यहां के लोग खुद को ठगा सा महसूस कर रहे हैं। उनका कहना है आज के वक्त में सभी कामों के लिए आधार कार्ड की जरूरत होती है। इसमें तारीख गलत दर्ज होने से बड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

आधार कार्ड रजिस्ट्रेशन नंबर से हुआ खुलासा

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस गड़बड़ी का पता उस वक्त चला जब सरकारी स्कूलों के अध्यापक छात्रों के आधार कार्ड नंबर रजिस्ट्रेशन के लिए गए थे। उत्तर प्रदेश सरकार ने सरकारी स्कूलों में पढऩे वाले छात्रों के बारे में सहीं जानकारी के लिए आधार कार्ड नंबर का रजिस्ट्रेशन करवा रही है। स्कूल की शिक्षिका ने जब मामला पकड़ा तो उनको लगा कि संयोग वश 10-12 मामलों में ऐसा हो सकता है, लेकिन जब सभी में जन्म तिथि एक जनवरी मिली तो मामले को उच्च स्तर पर लाया गया। इतना ही नहीं इसमें जो जन्म तिथि तथा वर्ष अंकित है, उससे बच्चे काफी बड़ी उम्र के लगते हैं।

पहले भी आई आधार कार्ड में ऐसी गड़बडी

प्रदेश में इससे पहले भी आधार कार्ड में गड़बड़ी खबरें और भी कई जगहों से आती रही हैं। कई बार इसमें लापरवाही भी की जाती है जिसकी वजह से आम लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

ये कहना है अधिकारी
अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व डीएस पाण्डेय ने बताया कि मामला हमारे संज्ञान में है। हम जल्दी ही यहां पर एजेंसी को तलब करके नए कार्ड जारी करा देंगे।