बैलिस्टिक रॉकेटों के परीक्षण शीर्ष नेता की देखरेख में हुए : डीपीआरके

प्योंगयांग। सामरिक बलों ने बैलिस्टिक रॉकेटों का परीक्षण डेमोक्रेटिक पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ कोरिया (डीपीआरके) के शीर्ष नेता किम जोंग उन की देखरेख किया है। यह जानकारी आधिकारिक समाचार एजेंसी केसीएनए ने मंगलवार को दी। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने राज्य मीडिया के हवाले से कहा कि कोरियाई पीपुल्स आर्मी के सामरिक बल की हवासांग तोपखाने की इकाइयों ने परीक्षण अभ्यास में भाग लेते हुए प्रशांत क्षेत्र में अमेरिकी सैन्य ठिकानों को निशाना बनाया।

korang century

उल्लेखनीय है कि इस अभ्यास का मकसद उड़ान सुरक्षा को फिर से जांचना और कार्रवाई के लिए तैनात सुधारे हुए बैलिस्टिक रॉकेट की सटीकता को निर्देशित करना था, ताकि इन इकाइयों की क्षमता का निरीक्षण और आकलन किया जा सके। राज्य मीडिया ने इस परीक्षण को सही बताया और कहा कि इस प्रशिक्षण अभ्यास ने साबित कर दिया कि सेना के सामरिक बल किसी भी समय और किसी भी जगह से दुश्मन पर पहले हमला करने की क्षमता रखते हैं। इस परीक्षण से संतुष्ट किम ने परमाणु शक्ति संभालने के लिए ज्यादा उपलब्धियां हासिल करने का निर्देश दिया और परमाणु शस्त्रागार के उच्च स्तर पर विकास के जरिए सैन्य बचाव की बात कही।

राज्य मीडिया ने परीक्षण अभ्यास की तारीख और जगह नहीं बताई। दक्षिण कोरियाई रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि डीपीआरके ने सोमवार को तीन बैलिस्टिक मिसाइलें अपने पूर्वी समुद्र से सियोल के समयानुसार करीब 12.14 बजे उत्तरी ह्वांगे प्रांत के ह्वांग्जू से दागीं। यह मिसाइल प्रक्षेपण प्योंगयांग के 24 अगस्त के सिनपो के पूर्वी तट से पनडुब्बी से एक बैलिस्टिक मिसाइल के दागे जाने के करीब दो हफ्तों बाद हुआ है।