कश्मीर में हालात अराजकता की ओर : चिदंबरम

नई दिल्ली। पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदंबरम ने बुधवार को कहा कि जम्मू एवं कश्मीर में हालात “पूरी तरह अराजकता की तरफ बढ़ रहे हैं, और राज्य में सत्तारूढ़ पीडीपी-भाजपा गठबंधन इस संकट का समाधान नहीं खोज सका है। चिदंबरम ने एक बयान में कहा कि पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) को राज्य के विपक्षी कांग्रेस और नेशनल कांफ्रेंस से राज्य में इस संकट के समाधान के लिए हाथ मिलाना चाहिए। अशांत घाटी में बुधवार को कर्फ्यू का लगातार 40वां दिन रहा।

p chitambram

चिदंबरम ने सत्तारूढ़ पीडीपी-भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को राज्य की हालत के लिए जिम्मेदार ठहराया। जहां अबतक सुरक्षा बलों और लोगों के बीच हुए संघर्ष में 65 लोगों की मौत हो चुकी है। चिदंबरम ने कहा, “मैं भयभीत हूं कि मौजूदा सरकार संकट से बाहर निकलने का रास्ता नहीं खोज पाई है। कांग्रेस, नेशनल कांफ्रेंस, यदि तैयार हैं तो पीडीपी को साथ मिलकर समस्या का समाधान खोजना चाहिए। पहले, तत्काल हिंसा रोकने का उपाय और फिर जम्मू एवं कश्मीर के लोगों में आशा, शांति और समृद्धि के लिए आगे के कदम उठाने चाहिए।”

उन्होंने कहा, “मैं अराजकता की तरफ जाते हुए जम्मू एवं कश्मीर के हालात से चिंतित हूं। पीडीपी-भाजपा सरकार पिछले छह हफ्तों में तेजी से बिगड़ते हुए हालात के लिए जिम्मेदार है।” उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री, गृहमंत्री और रक्षामंत्री के बयान ने संकट को विकट किया है। शब्दों और कार्यो में समभाव से ही हालात को सुधार सकते हैं। प्रदर्शनकारी युवाओं, दूसरे नागरिकों और सुरक्षा बलों के -जीवन के नुकसान- ने हम सभी को तबाह किया है। इसे रोकना होगा।”