गोरक्षा के नाम पर लोगों की हत्या स्वीकार नहीं की जाएगी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने दो दिवसीय गुजरात प्रवास के दौरे पर हैं। वहां गुरुवार को पीएम मोदी ने कहा कि गाय की सेवा महात्मा गांधी और विनोबा भावे से सीखनी चाहिए। गोरक्षा के नाम पर हिंसा क्यों? पीएम ने कहा कि गाय कि रक्षा को लेकर जो मौजूदा हालात बने हुए हैं उन्हें देखकर पीड़ा होती है। गाय की सेवा ही गाय की भक्ति है। गोरक्षा के नाम पर हिंसा ठीक नहीं है। देश को अहिंसा के रास्ते पर चलना होगा। गोभक्ति के नाम पर लोगों की हत्या स्वीकार नहीं की जाएगी।

उन्होंने कहा कि अगर वह इंसान गलत है तो कानून अपना काम करेगा। किसी को भी कानून हाथ में लेने की जरूरत नहीं है। हिंसा समस्या का समाधान नहीं है। पीएम का कहना है कि देश मे कुछ लोग गोरक्षा के नाम पर लोगों की जान ले रहे हैं। हमें अपने देश में ऐसी गोभक्ति नहीं चाहिए। पीएम ने कहा कि अगर किसी को गाय कि भक्ति करनी है तो वो सिर्फ गाय की भक्ति गाय कि भक्ति के नाम पर लोगों की जान न लें।

बता दें कि भीड़ की हिंसा को गलत बताते हुए मोदी ने कहा कि मरीज की मौत पर अस्पताल को फूंकना गलत है। इसमें उस डॉक्टर का कोई दोष नहीं है, जो आपके परिवार के सदस्य की सेवा कर रहा था। लेकिन, उस सदस्य को बचा नहीं पाया। लेकिन फिर भी आपको शिकायत है तो कानून है। हिंसा समस्याओं का समाधान नहीं है। हमारा देश अहिंसा और गांधी का देश है। हमारा देश शांति का देश है इसे हिंसा का देश बनान ठीक नहीं है।